अनिल विज का बयान- हम नहीं चाहते थे लॉकडाउन लगाया जाए, लेकिन मजबूर होकर लगाना पड़ा

0
18


अनिल विज बोले हम नहीं चाहते थे लॉकडाउन लगाना(फाइल फोटो)

Anil Vij on Lockdown: अनिल विज ने कहा कि हरियाणा में रोजाना 15 हजार मरीज ओर जुड़ रहे हैं. इसलिए लॉकडाउन लगाना पड़ा.

अंबाला. हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज (Anil Vij) ने लोगों ने लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान घर पर रहते हुए सुरक्षित रहने की अपील की. अनिल विज ने स्पष्ट किया कि वह बिल्कुल नहीं चाहते थे कि लॉकडाउन लगाया जाएगा, लेकिन मजबूर होकर लगाना पड़ा. विज ने बताया कि लोगों को जिस तरह कोविड के नियमों की पालना करनी चाहिए, लोगों ने नहीं की. अनिल विज ने कहा कि हमने कई प्रयास किए, लेकिन फिर भी नियमों की पालना नहीं हुई. जिसके कारण कोरोना के केस एक लाख से भी ज्यादा एक्टिव केस हो गए. वहीं रोजाना 15 हजार मरीज ओर जुड़ रहे हैं. इसलिए लॉकडाउन लगाना पड़ा, क्योंकि कोरोना बढ़ती चेन पर रोक लगाना जरूरी है. बता दें कि हरियाणा सरकार ने पूरे राज्य में 3 मई से 9 मई तक एक सप्ताह का संपूर्ण लॉकडाउन लगाने का निर्णय लिया है. गृह विभाग ने आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के तहत लॉकडाउन के संदर्भ में आदेश जारी कर दिए हैं. मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि कोरोना की चेन तोड़ने के लिए प्रदेश में लॉकडाउन लगाया गया है. लॉकडाउन में इन्हें रहेगी छूटऐसे लोग जो लॉ एंड आर्डर या आपात सेवाओं में तैनात हैं. इसमें म्यूनिसिपल सेवाएं, पुलिस, सेना/सीएपीएफ के वर्दीधारी कर्मचारी, स्वास्थ्य, बिजली, अग्नि शमन, मान्यता प्राप्त मीडियाकर्मी, कोविड-19 के तहत काम कर रहे सरकारी कर्मचारी शामिल हैं. इस अवधि के दौरान पहचान पत्र दिखाकर इन्हें आने-जाने में छूट मिल सकेगी. किसी परीक्षा में शामिल होने के लिए या परीक्षा में ड्यूटी आदि पर जाने वाले लोगों को भी एडमिट कार्ड/पहचान पत्र दिखाकर आने-जाने में छूट रहेगी. आवश्यक वस्तुओं के निर्माण में लगे लोगों पर भी आने-जाने में कोई रोक नहीं होगी. राज्य के भीतर व बाहर आवश्यक वस्तुओं को ले जा रहे वाहनों पर भी रोक नहीं होगी. ऐसे कार्यों में लगे वाहनों को पास उपलब्ध करवाए जाएंगे. ये पास लोडिंग और अनलोडिंग के स्थानों की वेरिफिकेशन के बाद जारी होंगे. लॉकडाउन में इन्हें रहेगी छूट ऐसे लोग जो लॉ एंड आर्डर या आपात सेवाओं में तैनात हैं. इसमें म्यूनिसिपल सेवाएं, पुलिस, सेना/सीएपीएफ के वर्दीधारी कर्मचारी, स्वास्थ्य, बिजली, अग्नि शमन, मान्यता प्राप्त मीडियाकर्मी, कोविड-19 के तहत काम कर रहे सरकारी कर्मचारी शामिल हैं. इस अवधि के दौरान पहचान पत्र दिखाकर इन्हें आने-जाने में छूट मिल सकेगी. किसी परीक्षा में शामिल होने के लिए या परीक्षा में ड्यूटी आदि पर जाने वाले लोगों को भी एडमिट कार्ड/पहचान पत्र दिखाकर आने-जाने में छूट रहेगी. आवश्यक वस्तुओं के निर्माण में लगे लोगों पर भी आने-जाने में कोई रोक नहीं होगी. राज्य के भीतर व बाहर आवश्यक वस्तुओं को ले जा रहे वाहनों पर भी रोक नहीं होगी. ऐसे कार्यों में लगे वाहनों को पास उपलब्ध करवाए जाएंगे. ये पास लोडिंग और अनलोडिंग के स्थानों की वेरिफिकेशन के बाद जारी होंगे.



<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here