अमेठी जा रहीं स्मृति ईरानी ने गन्ने का जूस पीते हुए क्यों ली राहुल के नाम पर चुटकी? चौंकाने वाली है वजह

0
54


अमेठी. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी सोमवार को दो दिवसीय अमेठी दौरे पर पहुंचीं. ग्रामीणों के साथ चौपाल पर उन्होंने कहा कि अब सांसद निधि के कार्य जनता से मिलने वाले प्रस्ताव के आधार पर तय होंगे. किसी भी गांव में आवश्यक विकास कार्यों को सांसद निधि आवंटित की जा सके इसके लिए ग्रामीणों की ओर से मिले लिखित प्रस्ताव का प्रशासन से सत्यापन कराया जाएगा. वहीं अमेठी जाते समय राहुल सरोज नाम से गन्ने के जूस की दुकान पर स्मृति ईरानी लोगों को जूस पिलाया और उसके नाम को लेकर चुटकी ली.

चौपाल कार्यक्रम से निकलने के बाद दादरा जाते समय मंत्री स्मृति ईरानी का काफिला वारिसगंज चौराहे पर पर रुक गया. यहां वाहन से उतरते ही स्मृति गन्ने का जूस निकाल रहे राहुल सरोज की दुकान पर पहुंच गईं. स्मृति ने अपने साथ रहे लोगों को गन्ने का जूस पिलाया. एक-एक कर 70 लोगों को गन्ने का जूस पिलाया गया, जिसके बाद स्मृति ने दुकानदार को एक हजार रुपया दिया और उसके नाम को लेकर हंसते हुए चुटकी लेने लगीं. हिसाब पूछते हुए उन्होेंने कहा कि तेरा नाम राहुल है इसलिए हिसाब पूछना पड़ रहा है. स्मृति की बातें सुनकर वहां मौजूद लोग हंसने लगे.

राहुल बोला यादगार हो गई मेरी दुकान

वहीं स्मृति के उसकी दुकान पर पहुंचने पर राहुल ने कहा कि कि मुझे इस बात का गर्व है कि देश की इतनी बड़ी नामचीन नेता इतनी सरलता से मेरी दुकान पर आकर मेरे हाथों से निकाला हुआ जूस पीने आईं हैं. इसने मेरी दुकान को यादगार बना दिया है.

विकास के लिए सीधे जनता से प्रस्ताव लेने की बात

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने मुसाफिरखाना के दादरा गांव के हिंगलाज मंदिर परिसर में आयोजित चौपाल में कहा कि आप सभी जानते हैं कि प्रत्येक सांसद को अपने क्षेत्र के विकास के लिए सांसद निधि मिलती है. ऐसे में मेरा यह प्रयास है कि मैं गांव-गांव जाकर ग्रामवासियों से स्वयं पूछूं कि अपने गांव में विकास को वे कौन सा काम कराना चाहते हैं और ऐसा कोई विकास का कार्य चाहते हैं तो मुझे लिखित में दे दीजिए. मैं उन प्रस्तावों को अमेठी डीएम के पास भेज दूंगी. वहां से सत्यापन होने के बाद गांव के विकास कार्यों के लिए सांसद निधि आवंटित कर दी जाएगी.

Tags: Amethi news, Rahul gandhi, Smriti Irani, UP news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here