आजमगढ़ से ISIS का संदिग्ध आतंकवादी अरेस्ट, राजनीति के बहाने तैयार कर रहा था संगठन

0
36


हाइलाइट्स

AIMIM पार्टी से जुड़कर तैयार कर रहा था खुद का आतंकी संगठन
15 अगस्त को बड़े धमाके के लिए बना रहा था आईईडी

आजमगढ़. यूपी एटीएस ने मंगलवार को आजमगढ़ जिले से आईएसआईएस के संदिग्ध आतंकी सबाउद्दीन आजमी को गोरफ्तार किया. यूपी एटीएस के मुताबिक गिरफ्तार सबाउद्दीन के इरादे बेहद खतरनाक थे. वह असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम से जुड़कर अपना आतंकी संगठन तैयार करने की कोशिश में जुटा था. इसके लिए वह युवाओं का ब्रेनवाश कर उन्हें अपने साथ जोड़ने की कोशिश तो कर ही रहा था, साथ ही स्वतंत्रता दिवस पर देश में धमाकों के लिए आईइडी बनाने की कोशिश में भी जुटा था.

गिरफ्तार सबाउद्दीन आगामी नगर पालिका के चुनाव में सभासद का चुनाव भी लड़ने वाला था. सूत्रों के मुताबिक वह पार्टी के प्रचार के बहाने लोगों को गुमराह कर अपने मिशन के लिए उन्हें तैयार कर रहा था. उसके इस खतरनाक इरादे के सामने आने के बाद हर कोई हैरान है. माना जा रहा है कि उसके और भी साथी जिले में हो सकते हैं. बतातें चलें कि आजमगढ़ जिले का आतंकवाद से गहरा नाता रहा है. वर्ष 1993 में हुए बम धमाकों से लेकर देश के विभिन्न हिस्सों में हुई आतंकी वारदातों में आजमगढ़ का नाम आ चुका है. बटला एनकाउंटर में भी यहां के दो आतंकी मारे गए थे. अभी भी जिले के आधा दर्जन आतंकी फरार है.

15 अगस्त को बड़ी वारदात को अंजाम देने के फ़िराक में था
अब यूपी एटीएस ने मुबारकपुर थाना क्षेत्र के अमिलो वार्ड संख्या-9 महमूदपुरा से आईएसआईएस के संदिग्ध आतंकी सबाउद्दीन आजमी को गिरफ्तार किया है. उसके पास से एटीएस ने आईइडी बनाने का सामान भी बरामद किया है. एटीएस के मुताबिक सबाउद्दीन के इरादे बहुत खतरनाक थे. वह कश्मीर में मुजाहिदों के साथ हो रही कार्रवाई से नाराज था और बदला लेना चाहता था. सबाउद्दीन ने स्वतंत्रता दिवस पर देश में बड़े धमाके का प्लान भी तैयार किया था. जिसके लिए वह आईइडी तैयार कर रहा था. सूत्रों की माने तो सबाउद्दीन ने आईएएमआईएम सिर्फ इसलिए ज्वाइन किया था कि वह राजनीतिक दल में काम करते हुए भारत में भी एआईएसआई जैसा एक बड़ा आतंकी संघटन तैयार कर सके. वह अपने वार्ड से नगर पालिका सभासद का चुनाव भी लड़ने की तैयारी में था ताकि उसकी अधिक से अधिक लोगों तक पहुंच हो सके.

ISIS के रिक्रूटर से था सीधे संपर्क में
यूपी एटीएस के मुताबिक वह युवाओं को बरगलाकर जेहाद के लिए तैयार करता था. सबाउद्दीन आईएसआईएस के रिक्रूटर से सीधे संपर्क में रहता था. यही नहीं व्हाट्सएप व टेलीग्राम से जिहादी विचारधारा को फैलाने की पूरी कोशिश कर रहा था. वह आतंकी बिलाल, मूसा और खत्ताब के सीधे संपर्क में था. आईएसआईएस के अबू बकर अल-सामी से भी उसकी सीधी बात होती थी. भारत में इस्लामिक संगठन के दिशा में वह काफी आगे बढ़ चुका था. सबाउद्दीन ने आरएसएस के सदस्यों को चिन्हिंत करने के उद्देश्य से आरएसएस के नाम से मेल आईडी व उससे फेसबुक का एकाउंट भी बनाया था. खुद को आरएसएस का कार्यकर्ता बनाकर वह उन्हें भी टार्गेट कर रहा था. ताकि प्लान के तहत उन्हें निशाना बनाया जा सके. माना जा रहा है आतंकी सबाउद्दीन के कुछ और साथी एटीएस के टार्गेट पर है.

राजनीति भी शुरू
सूत्रों की माने तो पांच अगस्त को भी एटीएस आजमगढ़ के मुबारकपुर आई थी और आधा दर्जन लोगों को हिरासत में ले गई थी. फ़िलहाल हिरासत में लिए गए आजमगढ़ के दो अन्य युवकों को पूछताछ के बाद छोड़ दिया। हालांकि उस समय जिले के अधिकारियों ने ऐसी किसी भी जानकारी से इनकार किया था.  जिले में एक बार फिर आतंकी कनेक्शन सामने आने के बाद राजनीती भी शुरू हो गयी है. एक तरफ सपा नेता ने जहां ओवैसी और बीजेपी को एक बताया, वहीं सरकार के तंत्र पर भी सवाल खड़े किये। दूसरी तरफ बीजेपी नेता बृजेश यादव ने ओवैसी पर हमला बोलते हुए कहा कि उनकी पार्टी आतंकवादियों की पनाहगार बन गयी है और उनके ज़हरीले बोल आतंकवादी और जिहादी पैदा करने लगी है.

Tags: Azamgarh big news, UP ATS, UP latest news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here