आधा घंटे के लिए बंद रहेगा नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे, जाने वजह

0
31


नोएडा. दिल्ली (Delhi) से ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) वेस्ट की ओर सफर करने वालों के लिए एक जरूरी खबर है. 21 अगस्त को नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे को कुछ देर के लिए बंद किया जा जाएगा. हालांकि उस दिन रविवार होने के चलते ऑफिस जाने वालों पर इसका ज्यादा असर नहीं पड़ेगा. लेकिन एक्सप्रेसवे को आधा घंटा करीब बंद रखने के चलते परेशानी खड़ी हो सकती है. गौरतलब रहे 21 अगस्त को सुपरटेक के सियान और एपेक्स ट्विन टावर (Twin Tower) को गिराने का काम किया जाएगा. दोनों टावर विस्फोटक (Explosive) लगाकर गिराए जाएंगे. इस दौरान टावर का मलब रोड पर आकर न गिर जाए, किसी को चोट न लगे इसके लिए यह जरूरी कदम उठाया जा रहा है. वहीं सेक्टर-93ए जहां टावर गिराने का काम चल रहा वहां एक्सप्रेसवे से लगी सर्विस रोड को भी बंद किया जा सकता है.

वॉटरफाल के तरीके से ऐसे गिराए जाएंगे टावर

अमेरिका की कंपनी इससे पहले भारत में ही मुम्बई और कोच्चि में भी मल्टी स्टोरी बिल्डिंग गिराने का काम कर चुकी है. साउथ अफ्रीका में भी सुपरटेक के ट्वीन टावर जितनी बिल्डिंग को तोड़ चुकी है. कंपनी ने नोएडा अथॉरिटी में अपना प्रस्ताव पेश करते हुए बताया है कि वो ट्वीन टावर को वॉटरफाल का तरीका अपनाकर तोड़ेगी.

इसके लिए टावर के कॉलम, बीम और दिवारों में कई जगह वी शेप में छेद कर एक्सप्लोसिव लगाया जाएगा. इस तरीके से टावर का मलबा एक झरने से गिरने वाले पानी की तरह से नीचे आएगा. खास बात यह है कि मलबा टावर के अंदर की ओर गिरेगा.

गौशाला की गायों का दूध बेचेगी नोएडा अथॉरिटी, अगरबत्ती भी हैं प्लान में

 9 मिनट में 4 हजार किलो बारूद से गिराए जाएंगे टावर

सुपरटेक की एमराल्ड योजना के दोनों टावर सियान और एपेक्स को सुप्रीम कोर्ट ने अवैध घोषित कर दिया है. साइट पर काम कर रहे इंजीनियरों के मुताबिक पहला धमाका कर सियान टावर को चार सेकेंड में गिरा दिया जाएगा. फिर तीन सेकेंड का खाली वक्त दिया जाएगा. अगले आठवें सेकेंड में एपेक्स टावर को गिराया जाएगा. एक्सपर्ट टीम दोनों टावर से 200 मीटर दूर खड़े होकर रिमोट बटन से टावर को गिराएगी. सूत्रों की मानें तो इस काम के लिए करीब 4 हजार किलो बारूद का इस्तेमाल किए जाने की उम्मीद है.

कंट्रोल ब्लास्ट से गिराए जाएंगे ट्विन टावर

नोएडा सेक्टर-93ए में ट्विन टावर की साइट पर एफिडिस कंपनी के इंजीनियर्स का कहना है कि यह एक पूरी तरह से कंट्रोल ब्लास्ट होगा. इसका असर कोई बहुत दूर तक नहीं होगा. फिर भी अगर मलबा थोड़ा सा भी इधर-उधर छिटकता है तो उसे रोकने के लिए कंटेनर रख लोहे की दीवार खड़ी की गई है. जीओ फाइबर का कपड़ा टावर के चारों ओर लपेटा जा रहा है. जाल भी लगाया जा रहा है.

Tags: Noida Expressway, Supertech twin tower, Traffic Alert, Yamuna Expressway



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here