आयुष्मान योजना से बच गया इस मजदूर का हाथ, PM मोदी को बताया भगवान

0
25


मेरठ. उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में एक मरीज़ का हाथ आयुष्मान योजना की वजह से बच गया. अत्यंत गरीबी से जीवन यापन कर रहे इस मज़दूर के पास अपने इलाज के लिए एक पैसा नहीं था. उसके हाथ में ऐसा ट्यूमर हो गया था कि अगर वक्त रहते उसका इलाज न होता तो उसका हाथ कटना तय था. कई अस्पतालों में चक्कर काटने के बाद मरीज़ मेरठ के लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज पहुंचा. यहां मरीज़ का ऐसा उपचार हुआ कि उसका हाथ कटने से बच गया और उसका एक रुपया भी खर्च नहीं हुआ. मजदूर अब काफी खुश है और पीएम मोदी को भगवान बता रहा है.

ये मरीज़ रोते रोते कह रहा है कि अगर आयुष्मान योजना का लाभ नहीं मिलता तो उसका हाथ कटना तय था. इस मरीज़ का ऑपरेशन करने वाले डॉक्टर ज्ञानेश्वर टांक का कहना है कि मरीज़ को हाथ में ट्यूमर हो गया है. ये मर्ज दस लाख में से किन्हीं तीन चार को ही होता है. उन्होंने कहा कि आयुष्मान योजना में मिल रहे निशुल्क इलाज की वजह से इस मज़दूर का हाथ कटने से बच गया.

आयुष्मान भारत योजना के 4 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष में मेरठ के लाला लाजपत राय मेडिकल कालेज मेरठ में प्रधानाचार्य, डाक्टर आरसी गुप्ता ने बताया कि 23 दिसंबर 2018 को इस योजना की शुरुआत हुई थी. उन्होंने बताया कि मेरठ मेडिकल कॉलेज के 12 विभागों में मरीजों को निःशुल्क उपचार की व्यवस्था उपलब्ध करायी गई है. एक परिवार को 5 लाख रूपये का निः शुल्क इलाज इस योजना के अंतर्गत उपलब्ध कराया जाता है.

प्रभारी अधिकारी आयुष्मान भारत योजना, डाक्टर नवरतन गुप्ता (बाल रोग विशेषज्ञ) ने बताया कि इन चार वर्षो में लगभग 3000 से भी ज्यादा मरीजों को निःशुल्क उपचार की व्यवस्था लाला लाजपतराय स्मारक चिकित्सा महाविद्यालय में उपलब्ध कराई गई है. इसमें अस्थि रोग विभाग के इम्प्लान्ट, कार्डियोलॉजी विभाग के स्टंट, ओपन हार्ट सर्जरी जैसे गम्भीर रोगो का इलाज भी निःशुल्क उपलब्ध कराया जा रहा है.

मीडिया प्रभारी डॉक्टर वीडी पांडे ने बताया कि आयुष्मान योजना के प्रभावी संचालन के लिए पृथक पृथक विभागों में चिकित्सकों के ज़रिए आयुष्मान सम्बन्धित स्क्रीनिंग करने के उपरान्त गोल्डन कार्ड बनाये जाने की प्रकिया प्रारम्भ की जाती है. गोल्डन कार्ड बनाये जाने के उपरान्त मरीज को आनलाईन आयुष्मान भारत योजना के पोर्टल पर भर्ती कर संस्तुति लिया जाता है और मरीज को निःशुल्क उपचार प्रदान कराना प्रारम्भ किया जाता है. उन्होंने बताया कि मरीज के भर्ती होने से छुट्टी होने तक समस्त दवाईयॉ एवं उपचार से सम्बन्धित सामग्री तथा समस्त जांच जैसे एक्स-रे, अल्ट्रासाउंड, एमआरआई तथा सीटी स्कैन आदि निःशुल्क उपलब्ध कराया जाता है.

उन्होंने बताया कि आयुष्मान भारत योजना का लाभ केवल उन लाभार्थीयों को ही मिलता है जिनका आयुष्मान भारत योजना की सूची में पूर्व से नाम सम्मितिल हैं. समस्त जानकारी आयुष्मान भारत योजना के टोल फ्री नम्बर 14555 से प्राप्त की जा सकती है.

Tags: Ayushman Bharat Cards, Pm narendra modi, UP news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here