आरा सदर अस्पताल के विजिट से रोकने पर बोले पप्पू यादव- सिविल सर्जन व डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेशन ने मचा रखी है लूट

0
28


जनअधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के अध्यक्ष पप्पू यादव

Bhojpur News: आरा सदर अस्पताल के गेट पर ही रोक देने के बाद पप्पू यादव ने प्रेस वार्ता की और कहा कि बिहार की जनता ने एक जल्लाद को अपना मुख्यमंत्री चुना है. यहां एक नंगा खेल खेला जा रहा है.

रिपोर्ट- धर्मेंद्र कुमार पटना. बिहार में कोरोना काल में अगर कोई नेता सबसे अधिक एक्टिव नजर आ रहे हैं तो वे हैं जन अधिकार पार्टी के संयोजक पप्पू यादव (Pappu Yadav). वे अक्सर राजधानी पटना समेत बिहार के विभिन्न जिलों के अस्पतालों का जायजा लेते हैं और वहां लोगों की मदद करते हैं. कई बार तो उन्होंने कुव्यवस्थाओं की पोल भी खोली है. इसी क्रम में  पप्पू यादव रविवार को आरा सदर अस्पताल (Ara Sadar Hospital) का भी निरीक्षण करने पहुंचे थे,  लेकिन जाप सुप्रीमों को आरा एसडीएम वैभव श्रीवास्तव और पुलिस बल के द्वारा अस्पताल के गेट पर ही रोक दिया गया. बताया जा रहा है कि पप्पू यादव के आने का समय एक दिन पहले यानी शनिवार की शाम में निर्धारित किया गया था, लेकिन शनिवार की शाम को नगर थाना के द्वारा उनके कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया था. इसके अगले दिन यानी रविवार को निर्धारित कार्यक्रम के लिए जैसे ही पप्पू यादव अस्पताल पहुंचे पहले से तैनात पुलिस बल ने उनको कोरोना के बढ़ते संक्रमण का हवाला देकर अंदर जाने से रोक दिया. इसके बाद उन्होंने सदर अस्पताल के गेट पर ही रोक देने के बाद पप्पू यादव ने प्रेस वार्ता की और कहा कि बिहार की जनता ने एक जल्लाद को अपना मुख्यमंत्री चुना है. यहां एक नंगा खेल खेला जा रहा है. इसके बाद उन्होंने पटना पहुंचने के बाद भी मीडिया से बात की. पप्पू यादव ने कहा कि बिहार के निजी अस्पतालों की मनमानी जारी है, जिस पर सरकार का कोई कंट्रोल नहीं है.जाप सुप्रीमो ने कहा कि आरा में सिविल सर्जन व डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेशन ने मचा रखी लूट है. उनकी पोल न खुले इसलिए मुझे रोका गया. मगर वहां एक महिला ने आकर बता दिया कि दो सप्ताह से वहां पानी तक नहीं आ रहा.  उन्होंने कहा कि आरा में जब आर के सिंह आये थे, तब पॉजिटिव डॉक्टर को भी बुला लिया गया था. लेकिन, मुझे रोका गया क्यों उनकी लूट की पोल खुल जाती. हम तो सरकार को जगाने और लोगों की मदद को जाते हैं. पप्पू यादव ने कहा कि बिहार में हर रोज 500 से अधिक लोगों की मौत हो रही, जिसकी वजह यहां संसाधनों की कमी है. लोग ऑक्सीजन, वेंटिलेटर, दवाई और बेड के अभाव में दम तोड़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि PMCH, NMCH और IGIMS जैसे अस्पतालों में रात में जानबूझकर ऑक्सीजन की सप्लाई कम की जाती है, ताकि उन डाक्टरों के निजी अस्पतालों की ओर लोग जान बचाने को बाध्य हो और उन निजी अस्पतालों में हर दिन 1 लाख रुपये तक लिए जा रहे हैं. पूर्व सांसद ने कहा कि  इन अस्पतालों के नाम पर आने वाला ऑक्सीजन सिलिंडर रास्ते से भी कहीं और चले जा रहे हैं. इसलिए हम सरकार से मांग करते हैं कि वे इसकी जांच कराए. उन्होंने कहा कि निजी अस्पतालों को फायदा पहुंचाने के लिए सरकारी अस्पतालों में इलाज ढंग से नहीं होता है.  पप्पू यादव ने पीएम से बिहार की हालात को समझते हुए 3000 बेड वाले ICU व वेंटिलेटर से लैस अस्पताल की मांग की. उन्होंने कहा कि आखिर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहार और बिहार की जनता के लिए इतने बेदर्द क्यों हैं कि वैक्सीन से लेकर ऑक्सीजन तक हमें नहीं दे रहे.



<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here