इंटरव्यूः 10 साल की मेहनत और लड्डू-गोपाल का साथ, तब मिली कामयाबी- प्रियंका गोस्वामी

0
41


मेरठ. ‘मेरे लिए अपने देश के लिए मेडल जीतना सबसे खास पल था. पोडियम पर जब मैं मेडल के लिए पहुंचीं और राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे के सम्मान के साथ मैंने पदक लिया वह पल मैं कभी नहीं भूल सकती.’ यह कहना है कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में पैदल चाल में रजत पदक विजेता प्रियंका गोस्वामी का. कॉमनवेल्थ गेम्स समाप्त होने के बाद प्रियंका बर्मिंघम से दिल्ली पहुंचीं. दिल्ली से मेरठ पहुंचने पर उनका जोरदार स्वागत किया गया.

मेरठ के टोल प्लाजा से लेकर उनके घर तक शहरवासियों ने उनका भव्य स्वागत किया. लगभग 10 किलोमीटर के इस रूट में उन्हें घर तक पहुंचने में लगभग 4 से 5 घंटे लग गए. हर कोई प्रियंका की एक झलक देखना चाहता था. कोई उन्हें फूलों के हार पहना रहा था, कोई बुके दे रहा था तो किसी ने मुंह मीठा कराया. अपने शहर की बेटी की उपलब्धि पर हर मेरठवासी को गर्व महसूस हो रहा था. CWG-2022 से पदक जीतकर लौटीं प्रियंका से इंटरव्यू के खास अंश…

  • सफलता कैसे मिली?

    प्रियंका गोस्वामी – सफलता के लिए कोई शॉर्ट-कट नहीं होता. यह मेडल पाने के लिए मैंने 10 साल इंतजार किया. कामयाबी कभी एक वर्ष में नहीं मिलती. उसे पाने के लिए निरंतर प्रयास करना पड़ता है. मुझे भी यहां तक पहुंचने के लिए इस मेडल को पाने के लिए 10 साल लग गए.

  • हार का डर तो नहीं था?

    प्रियंका गोस्वामी- जो भी युवा खिलाड़ी हार के डर से खेल छोड़ देता है, यह गलती है. हार से भी सीख लेनी चाहिए, क्योंकि हार में भी कुछ ना कुछ बेहतर भविष्य की राह होती है.

  • ‘लड्‌डू गोपाल’ पर क्या कहेंगी?

    प्रियंका गोस्वामी- मेरा ईश्वर में बहुत विश्वास है. मैं अपनी जीत का श्रेय अपने लड्डू गोपाल को देना चाहूंगी. मेरे कोच और परिवार को भी इस जीत का श्रेय जाता है. मेरे हर कदम पर कोच मेरे साथ थे. उन्होंने हर तरीके से मेरी मदद की है. मैं कैलाश प्रकाश स्टेडियम में स्टूडेंट लाइफ से ही प्रैक्टिस करती रही हूं.

  • सरकारी मदद कितनी मिली?

    प्रियंका गोस्वामी- जिस तरीके से प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार खिलाड़ियों का हौसला बढ़ा रही हैं. उसी का परिणाम है कि खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं. यह सिलसिला आगे भी जारी रहेगा.

  • ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

    FIRST PUBLISHED : August 11, 2022, 11:59 IST



    Source link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here