उज्जैन में शिप्रा नदी से अवैध खनन रोकने गए माइनिंग अधिकारी को कुचलने का प्रयास, बाल-बाल बचे

0
28


सरकारी अमले को देखकर अवैध खनन करनेवालों के बीच हड़कंप मच गया. वो सभी भागने लगे, कुछ अपनी-अपनी गाड़ियों को छोड़कर भाग गए

प्रशसन ने मौके से रेत से भरे दो ट्रैक्टर, एक खाली डंपर, एक जेसीबी (JCB) सहित रेट खनन में काम आने वाली मशीन पाइप को जब्त किया है. वहीं आरोपी एक जेसीबी और एक डंपर को ले भागने में सफल रहे. पुलिस-प्रशासन की टीम बुधवार को यह पता करेगी की यह अवैध उत्खनन (Illegal Sand Mining) कौन करवा रहा था

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 13, 2021, 12:13 AM IST

उज्जैन. मध्य प्रदेश के उज्जैन (Ujjain) में अवैध रेत उत्खनन (Illegal Mining) करनेवालों के हौसले बुलंद हैं. मंगलवार की रात यहां शिप्रा नदी (Shipra River) पर अवैध खनन की सूचना मिलने पर एडीएम, माइनिंग इंस्पेक्टर पुलिसबल के साथ पहुंचे. लेकिन आरोपी ड्राइवर ने माइनिंग इंस्पेक्टर पर डंपर चढ़ाने का प्रयास किया. गनीमत रही कि माइनिंग इंस्पेक्टर समय रहते कूद गए जिससे वो बाल-बाल बचे. इसके बाद पुलिस-प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए रेत खनन (Illegal Sand Mining) में शामिल कई गाड़ियों को जब्त कर लिया. वहीं घटना के बाद आरोपी डंपर ड्राइवर फरार हो गया.

दरअसल मंगलवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कार्यक्रम के बाद एडीएम नरेंद्र सूर्यवंशी को यह सूचना मिली थी कि शिप्रा नदी में रंजीत हनुमान के पीछे वाली जगह पर अवैध रेत का उत्खनन हो रहा है. जिसके बाद एडीएम माइनिंग इंस्पेक्टर जयदीप नामदेव और उनकी टीम के साथ पुलिसबल को लेकर शिप्रा नदी पर पहुंचे. सरकारी अमले को देखकर अवैध खनन करनेवालों के बीच हड़कंप मच गया. वो सभी भागने लगे, कुछ अपनी-अपनी गाड़ियों को छोड़कर भाग गए. वहीं कुछ डंपर और जेसीबी लेकर भागने लगे तो माइनिंग इंस्पेक्टर जयदीप ने एक डंपर को रोकने की कोशिश की. लेकिन उसके ड्राइवर ने उनपर डंपर चढ़ाने का प्रयास किया. लेकिन वो इसमें बाल-बाल बच गए.

प्रशसन ने रेत से भरे दो ट्रैक्टर, एक खाली डंपर, एक जेसीबी सहित रेट खनन में काम आने वाली मशीन पाइप को जब्त किया है. वहीं आरोपी एक जेसीबी और एक डंपर को ले भागने में सफल रहे. पुलिस-प्रशासन की टीम बुधवार को यह पता करेगी की यह अवैध उत्खनन कौन करवा रहा था.

बता दें कि जिस जगह पर प्रशासन ने यह कार्रवाई की है वो जगह शहर के बीचों-बीच है. यहां अमूमन रोजाना आम लोगों को आवाजाही रहती है. लेकिन हैरत की बात है कि अधिकारियों को अब तक इसकी भनक तक नहीं लगी कि शिप्रा नदी से खनन माफिया बेरोक-टोक रेत निकाल कर ले जा रहे हैं.


<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here