उत्तराखंड में आज से हड़ताल पर गए रोडवेज के कर्मचारी, नहीं चलेंगी बसें

0
24


यूनियन के प्रदेश महामंत्री अशोक चौधरी का कहना है कि यूनियन से जुड़े करीब 3500 कर्मचारी हड़ताल पर जाएंगे. (सांकेतिक फोटो)

निगम के महाप्रबंधक संचालन दीपक जैन (Deepak Jain) ने बताया कि कर्मचारी यूनियन से वार्ता की जा रही है. जल्दी ही उन्हें मना लिया जाएगा.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 13, 2021, 10:43 AM IST

देहरादून. उत्तरांचल रोडवेज कर्मचारी यूनियन (Uttaranchal Roadways Employees Union) ने हड़ताल का एलान किया है. आज से उत्तराखंड में रोडवेज के कर्मचारी हड़ताल (strike) पर जाएंगे.  जानकारी के मुताबिक, सभी डिपो में पहली बस सेवा से ही हड़ताल का एलान किया गया है. साथ ही कहा जा रहा है कि परिवहन निगम ने कर्मचारी यूनियन को वार्ता के लिए बुलाया है. इसके बाद ही कुछ फैसला लिया जाएगा. वहीं, उत्तरांचल रोडवेज कर्मचारी यूनियन की ओर से वेतन भुगतान (Salary Payment) सहित कई तरह की मांगें उठाई गई हैं.

यूनियन के प्रदेश महामंत्री अशोक चौधरी का कहना है कि यूनियन से जुड़े करीब 3500 कर्मचारी हड़ताल पर जाएंगे. इनमें बड़ी संख्या ड्राईवर और कंडक्टरों की है. इस वजह से बस सेवा करीब 80 फीसदी तक ठप रहने का अनुमान लगाया गया है. वहीं, 20 फीसदी ड्राईवर बसें संचालित करेंगे. अशोक चौधरी का कहना है कि जब तक उनकी मांगें नहीं मानी जाएंगी, तब तक वह आंदोलन जारी रखेंगे. वहीं, निगम के महाप्रबंधक संचालन दीपक जैन ने बताया कि  कर्मचारी यूनियन से वार्ता की जा रही है. जल्दी ही उन्हें मना लिया जाएगा.

हड़ताल खत्म होगी या लंबी चलेगी
बता दें कि इससे पहले प्रबंधन ने मंगलवार को यूनियन की बड़ी मांग मान ली थी. प्रबंधन ने देहरादून के मंडलीय प्रबंधक सीपी कपूर और ग्रामीण डिपो के प्रभारी सहायक महाप्रबंधक रामलाल पैन्यूली को उनके पदों से हटाकर मुख्यालय अटैच कर दिया था. लेकिन यूनियन शेष मांगों को भी पूरा करने की जिद पर अड़ी हुई है. हड़ताल खत्म होगी या लंबी चलेगी, इसका पूरा दारोमदार आज दोपहर होनी वाली वार्ता पर टिका है. यदि हड़ताल लंबा चलता है तो आम लोगों को उत्तराखंड मे काफी परेशानी उठानी पड़ेगी. क्योंकि, उत्तराखंड में आने-जाने के लिए रोडवेज की बसें ही सबसे बड़ा साधन हैं. ऐसे में हड़ताल की वजह से लोगों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाना मुश्किल हो जाएगा. ऐसे में पूरा उत्तराखंड पहाड़ी इलाका है.


<!–

–>

<!–

–>


! function(f, b, e, v, n, t, s) {
if (f.fbq) return;
n = f.fbq = function() {
n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)
};
if (!f._fbq) f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s)
}(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘482038382136514’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here