उत्तराखंड में भी है काशी विश्वनाथ मंदिर, जानिए क्यों पड़ा इस जगह का नाम गुप्तकाशी?

0
22



दोषों से मुक्ति पाने के लिए पांडवों ने पूजा-अर्चना की और भगवान शंकर के दर्शन के लिए निकल पड़े.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here