एक लाख जुटाने में हुई देरी तब तक रुका रहा ऑपरेशन, महिला की मौत, परिजनों ने डॉक्टर पर लगाया आरोप

0
40


इटावा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के इटावा में डॉ. भीमराव अंबेडकर राजकीय संयुक्त चिकित्सालय में एक महिला की ऑपरेशन के बाद मौत से हडंकप मच गया है. मौत की शिकार हुई महिला के परिजनों के मुताबिक, महिला की बच्चेदानी का ऑपरेशन किया गया था. इटावा के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.भगवान सिंह ने बताया कि महिला की मौत को लेकर पीड़ित परिवार के बयानों के आधार पर जांच कराई जा रही है. मृत महिला के पति ने सर्जन पर लापरवाही बरतने और ऑपरेशन के लिए एक लाख रुपये लेने का आरोप लगाया है. सिविल लाइन थाना पुलिस और स्वास्थ्य विभाग से शिकायत किए जाने के बाद मृतका के शव का पोस्टमार्टम कराया गया है.

बकेवर इलाके के मानपुरा के राम सिंह ने बताया कि उसने अपनी 55 साल की पत्नी राम केशरी को जिला अस्पताल के एक सर्जन को दिखाया था. पत्नी की थोड़ी बच्चादानी बाहर निकलने की शिकायत थी. इसलिए आगे दिक्कत बढ़ने से बचने के लिए कुछ लोगों ने सर्जन से संपर्क करने की सलाह दी थी. सर्जन ने सारे चेकअप जिला अस्पताल में करवाए. जहां सर्जन ने उनसे एक लाख रुपये की मांग की थी. इस पर उन्होंने डॉक्टर को ऑपरेशन के लिए रुपये दिए थे. रुपये देने में देरी की वजह से दो दिन तक भर्ती रखने के बाद ऑपरेशन सोमवार की शाम को किया गया.

आरोप है कि ऑपरेशन के बाद पत्नी का स्वास्थ्य धीरे-धीरे बिगड़ता गया. शुक्रवार की सुबह जब स्वास्थ्य अधिक बिगड़ गया तो जिला अस्पताल में उसने सर्जन को फोन किया. सुबह छह बजे से लगातार नौ बजे तक फोन करते रहे, परंतु सर्जन के न आने पर वहां पर उपस्थित स्टाफ नर्स ने प्रथम उपचार दिया. जब सर्जन ने देखा तो पत्नी की गंभीर हालत थी, जिसे लेकर सर्जन इमरजेंसी वार्ड में पहुंचा और वहां पर उसको प्राथमिक उपचार देने लगा, जहां मृत्यु उसकी हो गई.

इस मामले में पीड़ित राम सिंह ने सर्जन के खिलाफ सिविल लाइन थाने तथा स्वास्थ्य विभाग को लिखित शिकायती पत्र दिया है. पुलिस पूरे मामले को लेकर मेडिको लीगल प्रकिया के तहत कार्रवाई करने मे जुटी है.

आपके शहर से (इटावा)

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश

Tags: Etawah news, Hospitals, Uttar pradesh news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here