एमराल्ड-एटीएस ने धूल हटाने को मांगे 50-50 मजदूर, जानें सोसाइटी का प्लान

0
86


नोएडा. सुपरटेक के ट्विन टावर (Supertech Twin Tower) तोड़ने की जिम्मेदारी एडिफिस कंपनी और नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority) के ऊपर है. दोनों का जितना फोकस टावर पर है उतना ही पड़ोस में बने एमराल्ड और एटीएस टावर (Emrald-ATS Tower) में रहने वालों की सुरक्षा और उनकी परेशानी दूर करने पर भी है. यही वजह है कि दोनों सोसाइटी के लिए खास प्लान बनाया गया है. सोसाइटी में रहने वालों की सुरक्षा (Security) से लेकर पेट्स और वाहनों तक पर ध्यान दिया जा रहा है. वहीं टावर गिराए जाने के बाद दोनों सोसाइटी ने 50-50 मजदूरों की मांग की है. यह मजदूर धूल साफ करने में लगाए जाएंगे.

जिओ फाइबर शीट्स लगने पर भी आएगी धूल

ट्विन टावर के दोनों तरफ बराबर से एमराल्ड और एटीएस के टावर खड़े हैं. दोनों ही सोसाइटी में हजारों लोग रहते हैं. टावर गिरने पर धूल और मलबा दोनों सोसाइटी में न जाए इसके लिए लोहे के कंटेनर की दीवार खड़ी की गई है. इतना ही नहीं एमराल्ड के एस्टर-1,2,3 और एस्पायर-1 के साथ ही एटीएस विलेज के टावरों को ढक दिया गया है. टावरों को ढकने के लिए जिओ फाइबर क्लाथ के जाल का इस्तेमाल किया गया है. बावजूद इसके दोनों ही सोसाइटी में रहने वाले यूबीएस तेवतिया, भरत चोपड़ा, मोहित गर्ग, नरेश केसवानी और गौरव मेहरोत्रा ने टावर गिरने के बाद मजदूरों की मांग की है. उनका कहना है कि दोनों ही सोसाइटी को 50-50 मजदूर दिए जाएं. जिससे की सोसाइटी के कॉमन एरिया में जमने वाली धूल को साफ कराया जा सके.

एमराल्ड और एटीएस सोसाइटी के लिए बनाया है यह प्लान

ट्विन टावर 28 अगस्त को गिराए जाएंगे, लेकिन एमराल्ड और एटीएस सोसाइटी का प्लान 27 अगस्त से ही लागू हो जाएगा. एडिफिस कंपनी, नोएडा अथॉरिटी और दोनों सोसाइटी के लोगों को मिलाकर बनाई गई टॉस्क फोर्स विचार-विमर्श करने के बाद ही यह प्लान बनाया गया है. प्लान के मुताबिक-

28 अगस्त को सोसाइटियों में आने वाले घरेलू नौकरों को सुबह चार बजे आकर साढ़े छह बजे तक अपना काम खत्म करने के बाद चले जाना होगा.

सुबह 7 बजे 10 मिनट के लिए सोसाइटी के बिजली-पानी बंद कर दिए जाएंगे.

12.30 बजे एमराल्ड और एटीएस सोसाइटी का सिक्योरिटी स्टाफ एरिया को खाली कर चला जाएगा.

घर से बाहर जाने पर अपने फ्लैट के बाहर  ताले पर एक पर्ची चिपका कर उसकी फोटो आरडब्ल्यूए को भेजनी होगी.

सुबह 7 बजे फ्लैट से बाहर निकलते समय गैस, बिजली-पानी के सभी कनेक्शन बंद कर बिजली का मेन स्विच बंद करना होगा.

29 अगस्त से एमराल्ड और एटीएस सोसाइटी में धूल हटाने के लिए मशीन पहुंच जाएंगी.

दोनों सोसाइटी के लिए 4 एम्बूलेंस बुक कराई गई हैं.

एमराल्ड के सामने ही दोनों सोसाइटी वाहन खड़े करने की सुविधा होगी.

फेलिक्स अस्पताल में आठ बेड रिजर्व कराए गए हैं.

तीन सोसाइटियों में ठहराए जाएंगे एमराल्ड-एटीएस के लोग

जानकारों की मानें तो ट्विन टावर में विस्फोटक करने से पहले पड़ोस के टावर एमराल्ड और एटीएस को खाली कराया जाएगा. यहां रहने वाले करीब 7000 हजार लोगों को सेक्टर-93ए स्थित पाशर्वनाथ प्रेस्टीज सोसाइटी, सेक्टर-93 की पूर्वांचल सिल्वर सिटी और सेक्टर-137 की पूर्वांचल सोसाइटी में ठहराया जाएगा. सुराक्षित तरीके से अपने घरों से बाहर कैसे निकलना है और घरों को किस तरह से बंद करके आना है इसके लिए सभी को कंपनी की ओर से प्रशिक्षण भी दिया जाएगा.

Tags: Explosion, Noida Police, Supertech twin tower



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here