ओलिंपिक के लिए तैयारी शुरू करेंगे भारतीय बॉक्सर, तीसरी बार कोविड टेस्ट में हुए पास

0
10


कुछ बॉक्सर ने तोड़े थे क्वारंटाइन नियम

विकास कृष्णन (Vikas Krihnan) और सतीश कुमार द्वारा नियमों के उल्लंघन के कारण खिलाड़ियों और कोचों को तीसरी बार कोविड-19 (Covid-19) के लिये जांच करनी पड़ी.

नई दिल्ली. भारतीय मुक्केबाज इस सप्ताह के आखिर में अपने क्वारंटाइन को समाप्त कर सोमवार से औपचारिक अभ्यास शिविर को फिर से शुरु करेंगे. भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) ने ‘अनजाने’ में कोविड-19 (COVID-19) पृथकवास नियमों को तोड़ने वाले मुक्केबाजों को माफ कर दिया जिससे वे भी इसका हिस्सा होंगे.

विश्व चैम्पियनशिप (World Chmapionship) के रजत पदक विजेता एवं ओलिंपिक पदक के दावेदारों में से एक अमित पंघाल (Amit Panghal) सहित पटियाला के राष्ट्रीय खेल संस्थान (एनआईएस) परिसर में पृथकवास में रहे अन्य मुक्केबाज और कोचों का तीसरी बार कोरोना वायरस जांच का नतीजा नेगेटिव आया हैं.

स्पैरिंग करने की नहीं होगी इजाजत
मुक्केबाजो के साथ मौजूद कोच ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘औपचारिक अभ्यास सोमवार से फिर से शुरू होगा. अभी सब कुछ ठीक है. कुछ समय के लिए सब कुछ साइ के मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) के तहत होगा. इसमें खिलाड़ियों को स्पैरिंग और रिंग में जाने की अनुमति नहीं होगी .’ओलिंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाले विकास कृष्णन (Vikas Krihnan) और सतीश कुमार द्वारा पृथकवास नियमों के उल्लंघन के कारण खिलाड़ियों और कोचों को तीसरी बार कोविड-19 के लिये जांच करनी पड़ी. एनआईएस में साथी एथलीटों द्वारा उनके खिलाफ शिकायत दर्ज किए जाने के बाद उन्हें शिविर छोड़ने के लिए कहा गया था.

महिला बॉक्सर भी करेंगी अभ्यास
टोक्यो ओलिंपिक का टिकट हासिल कर चुके खिलाड़ियों के लिए हो रहे इस शिविर में छह बार की विश्व चैंपियन एमसी मेरीकोम और तेजी से उभरती लवलीना बोरगोहिन जैसी महिला मुक्केबाज भी शामिल हो रही हैं.

मेरीकोम और बोरगोहिन दोनों दिल्ली और असम में अपने-अपने घरों में अभ्यास कर रहे हैं. महासंघ के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा, ‘परिस्थितियों के हिसाब से शिविर वैकल्पिक है. इसलिए इस में शामिल होने का फैसला मुक्केबाजों को करना था. यह सुचारू रूप से आगे बढ़ना चाहिए.’ विकास और सतीश द्वारा नियमों को तोड़ने की जांच कर रहे साइ की जांच समिति ने कहा कि इन खिलाड़ियों से अनजाने में नियम टूटा था. साइ के सचिव रोहित भारद्वाज की अध्यक्षता वाली समिति की रिपोर्ट के बाद दोनों को शिविर में शामिल होने की छूट दे दी गयी.


<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here