कुत्‍ता काटने की घटनाओं को लेकर गाजियाबाद प्रशासन सख्‍त, दिए ये निर्देश

0
22


गाजियाबाद. शहर में आए दिन कुत्तों के काटने से हो रही घटनाओं को देखते हुए गाजियाबाद प्रशासन भी अब सख्त हो गया है. इस तरह की घटनाएं न घट सकें, इसके लिए डीएम आरके सिंह ने नगर निगम और पशु विभाग को दिशा निर्देश दिए हैं. प्रशासन ने दोनों विभागों से तुरंत कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. जिससे इस तरह की घटनाओं को रोका जा सके.

डीएम आरके सिंह के अनुसार उन क्षेत्रों का सर्वे किया जाए, जहां सबसे अधिक पालतू पशु हैं या फिर कुत्‍ता काटने की घटनाएं अधिक हो रही हैं. ऐसे क्षेत्रों को चिन्हित कर वहां विशेष अभियान चलाया जाए. उन इलाकों में बधियाकरण व टीकाकरण की कार्रवाई की जाए. इसके साथ ही सभी पालतु पशुओं का पंजीकरण कराया जाए. आम जनमानस को जागरूक करने के लिए भी जनजागरूकता अभियान अभियान चलाया जाए, ताकि इस तरह की घटनाएं न हो सकें. एक अक्टूबर से जिले में विशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान शुरू होगा।

10 फीसदी से भी कम कुत्‍तों का है रजिस्‍ट्रेशन

गाजियाबाद के चीफ वेटनरी ऑफिसर डॉ. अनुज सिंह के अनुसार गाजियाबाद में 2203 कुत्‍तों का रजिस्‍ट्रेशन है, जबकि 30000 के करीब कुत्‍ते पले होने का अनुमान है. उन्‍होंने कहा कि रजिस्ट्रेशन की जांच करेंगे. अगर किसी ने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है तो 5000 रुपये जुर्माना लगेगा और अन्‍य आवश्‍यक कार्रवाई होगी. रजिस्ट्रेशन न कराना आपराधिक कार्य है.

रजिस्ट्रेशन न कराने पर 5000 रुपये का जुर्माना

गाजियाबाद नगर निगम ने रजिस्ट्रेशन फीस भी कम कर दी है, ताकि लोग रजिस्ट्रेशन कराने के लिए प्रेरित हों और अधिक से अधिक रजिस्‍ट्रेशन कराएं. रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया ऑनलाइन होती है. रजिस्ट्रेशन कराते वक्त एंटी रैबीज वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट लगाना अनिवार्य है. अगर बिना रजिस्ट्रेशन के किसी ने कुत्ता रखा है, तो 5000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा.

Tags: Dog, Ghaziabad News



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here