कुशीनगर: बीजेपी समर्थक बाबर की मां ने डीआईजी के पैरों में गिरकर लगाई गुहार, कहा- हत्यारों पर जल्द लें एक्सन

0
62


कुशीनगर. उत्तर प्रदेश के कुशीनगर (Kushinagar News) में भाजपा समर्थक बाबर (Babar Lynching Case) की पीट-पीटकर हत्या मामले में मौके पर पहुंचे डीआईजी के पैरों पर गिरकर बाबर की बेबश मां न्याय की गुहार लगाने लगी. उसके बाद डीआईजी ने उस बेबश बूढ़ी मां को उठाया और फिर घर के अंदर जांच करने चले गए.

दरअसल पहले तो पुलिस ने इस मामले में लापरवाही दिखाई, लेकिन जैसे ही मीडिया में खबर चली तब पुलिस अफसर गांव में दौरा करने लगे. सोमवार देर शाम गोरखपुर रेंज के डीआईजी जे. रविंद्र गौड़ मौके पर पहुंचकर पीड़ित परिवार से मिले. यहां डीआईजी ने मीडिया के सवालों का जबाब देते हुए बताया कि परिजनों की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज किया गया है. दो अभियुक्तों को गिरफ्तार किया जा चुका है. परिजनों ने अभी जिनके नाम का जिक्र किया है, सबको विवेचना में लायेंगे. इस केस में लापरवाही बरतने वाले थानाध्यक्ष को लाईनहाजिर किया जा चुका है और जिसकी भी भूमिका होगी कार्यवाही की जाएगी.

ये भी पढ़ें- योगी सरकार 2.0 ने तय किया 100 दिन का एजेंडा, देगी बंपर सरकारी नौकरियां और रोजगार के मौके

दरअसल कुशीनगर के रामकोला थाने के कठघरही गांव में मुस्लिम युवक को बीजेपी का प्रचार करने और योगी आदित्यनाथ की सरकार बनने पर मिठाई बांटने के कारण अपनी जान गंवानी पड़ी. मुस्लिम युवक को उसके पट्टीदारों ने जमकर पिटाई की, जिसके बाद युवक को जिला अस्पताल और फिर लखनऊ रेफर किया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

ये भी पढ़ें- 69 हजार शिक्षक भर्ती मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट का अहम आदेश, कहा- इससे एक भी ज्यादा नियुक्ति न हो

मारपीट की घटना बीते 20 मार्च की है. 21 मार्च को पीड़िता फातमा की तहरीर पर पुलिस ने मारपीट के मामले में एफआईआर दर्ज की थी. वहीं मृतक का शव जैसे ही गांव में पहुंचा तो लोग आक्रोशित हो गए लोगों ने शव का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया. मामला सत्ताधारी दल से जुड़ा होने के कारण प्रशासनिक अमला भी सक्रिय हो गया. विधायक के साथ सीओ, एसडीएम मय फोर्स पहुंच गए.

मृतक बाबर के परिजनों का कहना था कि पड़ोस में रहने वाले पट्टीदार इस बात पर नाराज थे कि बाबर भाजपा का प्रचार कर रहा है. पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले में इतिश्री कर ली थी, लेकिन जैसे ही यह खबर मीडिया में आई और परिजन शव को लेकर धरने पर बैठे तो पुलिस के हाथ-पांव फूल गए. आनन-फानन में दो अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया.

इस मामले के सुर्खियों में आने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी इस पूरे प्रकरण की जांच के आदेश दे दिए थे. उसके बाद लापरवाही में थानाध्यक्ष रामकोला दुर्गेश कुमार सिंह को लाईन हाजिर कर दिया गया.

आपके शहर से (कुशीनगर)

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश

Tags: Kushinagar news, Murder case, UP BJP, UP news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here