केस बढ़ रहे और दिल्ली-एनसीआर में लक्षणों के बाद भी 63 फीसदी ने नहीं कराई कोरोना जांच, रिपोर्ट में बड़ा दावा

0
44


हाइलाइट्स

दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं
25 प्रतिशत ने रैपिड एंटीजन टेस्ट का विकल्प चुना

नई दिल्ली. एक तरफ जहां दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं तो वहीं एक सर्वे में अधिकांश लोगों में लक्षणों के बाद भी जांच नहीं कराने की बात सामने आई है. दिल्ली-एनसीआर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में सर्वेक्षण में भाग लेने वाले 63 प्रतिशत लोगों ने कहा है कि पिछले 30 दिनों में कोविड 19 जैसे लक्षण होने के बावजूद उन्होंने कोई जांच नहीं कराई है. डिजिटल समुदाय आधारित मंच ने सोमवार को यह जानकारी देते हुए कहा कि सर्वेक्षण के तहत लोगों को एक प्रश्नावली दी गई थी, जिस पर 10,821 प्रतिक्रियाएं मिलीं. एक बयान में कहा गया है कि 67 फीसदी उत्तरदाता पुरुष थे, जबकि 33 फीसदी महिलाएं थीं.

सर्वेक्षण में शामिल कुछ प्रश्नों में शामिल थे. पिछले एक महीने में जब आपको या दिल्ली-एनसीआर में आपके परिवार के सदस्यों में कुछ लक्षण थे और एक कोविड 19 जांच बिना कहीं गए, आवश्यकता थी तो आपने किस प्रकार की जांच कराई थी इस सवाल के जवाब में किसी भी उत्तरदाता ने केवल आरटी पीसीआर जांच नहीं कराने की बात कही.

25 प्रतिशत ने रैपिड एंटीजन टेस्ट का विकल्प चुना
जहां 25 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने कहा कि उन्होंने रैपिड एंटीजन टेस्ट का विकल्प चुना, वहीं 12 प्रतिशत का जवाब आरटी-पीसीआर और रैपिड एंटीजन टेस्ट दोनों था लोकलसर्किल्स ने बयान में कहा हालांकि 63 प्रतिशत निवासियों ने कहा कि लक्षण होने के बावजूद उन्होंने इनमें से कोई भी जांच नहीं कराई.

दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं
अध्ययन के नतीजे ऐसे समय आए हैं पिछले एक हफ्ते में दिल्ली में कोविड 19 के मामले काफी बढ़े हैं. स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार दिल्ली में रविवार को कोविड 19 के 2423 मामले आए और संक्रमण दर 14.97 प्रतिशत रही, जो 22 जनवरी के बाद से सबसे अधिक है. जबकि बीमारी के कारण दो और लोगों की मौत हो गई. 22 जनवरी को संक्रमण दर 16.4 प्रतिशत थी. यह लगातार पांचवां दिन था जब दैनिक मामलों की संख्या 2,000 से ऊपर रही.

Tags: Corona Virus, New Delhi news, RT PCR Test



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here