कोरोना काल में कालाबाजारी को आप भी रोक सकते हैं, बस इन नंबर्स पर कीजिये डायल Rajasthan News- Jaipur News- You can also stop black marketing in Corona era-Just dial these numbers

0
15


जयपुर जिले में उपभोक्ता हेल्पलाइन नंबर 1800-180-6030 या व्हाट्सएप नंबर 7230086030 पर इसकी सूचना देकर शिकायत दर्ज करवा सकते हैं.

Black marketing in rajasthan in Lockdown/Curfew era: जयपुर प्रशासन ने इस पर लगाम लगाने के लिये हेल्प लाइन नंबर जारी कर दिया है. इसके जरिये आम उपभोक्ता प्रशासन को सूचना देकर दोषी के खिलाफ कार्रवाई करवा सकता है.

जयपुर. राजस्थान में कोरोना (COVID-19) के फैलते संक्रमण को रोकने के लिये प्रदेशभर में लगाये गये लॉकडाउन/कर्फ्यू (Lockdown/Curfew) के बीच आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी (Black marketing) शुरू हो चुकी है. राज्य सरकार ने कालाबाजारी को रोकने के लिये पुख्ता बंदोबस्त किये हैं. सरकार के इन बंदोबस्त में आमजन भी सहभागी बनकर न केवल खुद इससे बच सकता है बल्कि अन्य लोगों को कालाबाजारी का शिकार होने से बचा सकता है. कालाबाजारी रोकने के लिये जयपुर जिला प्रशासन में हेल्पलाइन शुरू की है. इसके तहत एमआरपी से अधिक कीमत पर वस्तुओं को बेचने या अवधिपार (एक्सपायर्ड) वस्तुओं की बिक्री होने पर उपभोक्ता हेल्पलाइन नंबर 1800-180-6030 या व्हाट्सएप नंबर 7230086030 पर इसकी सूचना देकर शिकायत दर्ज करवा सकते हैं. सूचना पर जिला प्रशासन दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगा. जयपुर शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के लिये जारी किये नंबर जिला रसद अधिकारी प्रथम एवं द्वितीय ने आदेश जारी कर कहा है कि कोविड-19 की दूसरी लहर की रोकथाम के लिए लॉकडाउन/कर्फ्यू के दौरान यदि जयपुर (ग्रामीण) एवं शहरी क्षेत्र में कोई भी दुकानदार इसका अनुचित लाभ लेने के मकसद से किसी भी उपभोक्ता को एमआरपी से अधिक कीमत पर वस्तु बेचता है या फिर अवधिपार वस्तुओं का बेचान करता है तो इसकी शिकायत तत्काल उपभोक्ता हेल्प लाइन नंबर पर कर सकते हैं.संपर्क पोर्टल नंबर- 181 पर भी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं जिला रसद अधिकारी (प्रथम) राष्ट्रदीप यादव ने बताया कि इसके अलावा संपर्क पोर्टल नंबर- 181 पर भी शिकायत दर्ज करवाई जा सकती है ताकि ऐसे दुकानदारों के खिलाफ कोविड-19 की गाइडलाइन के उल्लघंन के तहत एवं नियंत्रक, विधिक माप विज्ञान उपभोक्ता मामले विभाग, राजस्थान के लीगल मैट्रोलोजी (पीसी) नियम के तहत कठोर कार्रवाई की जा सके. जीवनरक्षक दवाओं की हो रही है कालाबाजारी
इस समय दवाओं की कालाबाजारी पर अंकुश लगाना सरकार के लिये बड़ी चुनौती बन गया है. जीवनरक्षक कई दवाएं आम आदमी की पहुंच से दूर हो रही हैं. खबरें हैं कि ब्लैक मार्केट में 800 रुपये की दवा सवा लाख रुपये तक बिक रही है. इसे रोकना सरकार के सामने बड़ा चैलेंज बना हुआ है. इसे रोकने के लिए ठोस रणनीति बनाकर काम करना होगा. जयपुर समेत प्रदेश के कई हिस्सों में जीवन रक्षक दवाओं की कालाबाजारी की खबरें लगातार आ रही हैं इसलिए सरकार ने यह सख्त कदम उठाया है.



<!–

–>

<!–

–>


window.addEventListener(‘load’, (event) => {
nwGTMScript();
nwPWAScript();
fb_pixel_code();
});
function nwGTMScript() {
(function(w,d,s,l,i){w[l]=w[l]||[];w[l].push({‘gtm.start’:
new Date().getTime(),event:’gtm.js’});var f=d.getElementsByTagName(s)[0],
j=d.createElement(s),dl=l!=’dataLayer’?’&l=”+l:”‘;j.async=true;j.src=”https://www.googletagmanager.com/gtm.js?id=”+i+dl;f.parentNode.insertBefore(j,f);
})(window,document,’script’,’dataLayer’,’GTM-PBM75F9′);
}

function nwPWAScript(){
var PWT = {};
var googletag = googletag || {};
googletag.cmd = googletag.cmd || [];
var gptRan = false;
PWT.jsLoaded = function() {
loadGpt();
};
(function() {
var purl = window.location.href;
var url=”//ads.pubmatic.com/AdServer/js/pwt/113941/2060″;
var profileVersionId = ”;
if (purl.indexOf(‘pwtv=’) > 0) {
var regexp = /pwtv=(.*?)(&|$)/g;
var matches = regexp.exec(purl);
if (matches.length >= 2 && matches[1].length > 0) {
profileVersionId = “https://hindi.news18.com/” + matches[1];
}
}
var wtads = document.createElement(‘script’);
wtads.async = true;
wtads.type=”text/javascript”;
wtads.src = url + profileVersionId + ‘/pwt.js’;
var node = document.getElementsByTagName(‘script’)[0];
node.parentNode.insertBefore(wtads, node);
})();
var loadGpt = function() {
// Check the gptRan flag
if (!gptRan) {
gptRan = true;
var gads = document.createElement(‘script’);
var useSSL = ‘https:’ == document.location.protocol;
gads.src = (useSSL ? ‘https:’ : ‘http:’) + ‘//www.googletagservices.com/tag/js/gpt.js’;
var node = document.getElementsByTagName(‘script’)[0];
node.parentNode.insertBefore(gads, node);
}
}
// Failsafe to call gpt
setTimeout(loadGpt, 500);
}

// this function will act as a lock and will call the GPT API
function initAdserver(forced) {
if((forced === true && window.initAdserverFlag !== true) || (PWT.a9_BidsReceived && PWT.ow_BidsReceived)){
window.initAdserverFlag = true;
PWT.a9_BidsReceived = PWT.ow_BidsReceived = false;
googletag.pubads().refresh();
}
}

function fb_pixel_code() {
(function(f, b, e, v, n, t, s) {
if (f.fbq) return;
n = f.fbq = function() {
n.callMethod ?
n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)
};
if (!f._fbq) f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s)
})(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘482038382136514’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);
}



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here