कोविड-19 की दूसरी लहर ने तोड़ी पर्यटन की कमर, 10000 से ज्यादा बुकिंग कैंसिल Rajasthan News-Jaipur News- Covid-19, Coronas second wave broke tourism, more than 10000 bookings canceled

0
130


राज्य में जितने भी देशी-विदेशी पर्यटक आते हैं. उनमें से 80 फीसदी पर्यटक जयपुर में विश्वप्रसिद्ध पर्यटन स्थलों को देखने जरूर आते हैं.

Corona’s second wave broke rajasthan tourism: करीब एक साल बाद बमुश्किल पटरी पर आये पर्यटन को कोरोना की दूसरी लहर ने एक बार फिर बेपटरी कर दिया है. हालात ये हैं कि हाल ही में पर्यटकों ने करीब 10000 से ज्यादा बुकिंग कैंसिल (Bookings canceled) करवा दी है.

जयपुर. दुर्ग और महलों की विरासत को संजोए राजस्थान के लिए पर्यटन (Tourism) आर्थिक धुरी के समान है. कोरोना की पहली लहर के बाद बमुश्किल कुछ संभले पर्यटन कारोबार को दूसरी लहर (Second wave of corona) ने फिर से बेपटरी कर दिया है. एक रिपोर्ट के मुताबिक जनवरी-फरवरी माह में 90 फीसदी ट्रेवल बुकिंग हुई थी. लेकिन आधा मार्च बीतने और कोरोना की दूसरी लहर की आहट के चलते पहले से रिजर्व होटलों की बुकिंग भी कैंसिल (Booking cancell) हो रही है. इससे कारण पर्यटन व्यवसाय से परोक्ष-अपरोक्ष जुड़े 60 लाख से ज्यादा लोगों की रोजी-रोटी प्रभावित हो रही है.

कोरोना की दूसरी लहर ने विदेशी पर्यटकों पर ब्रेक लगा दिया है. कई देशों में अभी लॉकडाउन की स्थिति है तो कई देशों ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगा रखी है. ऐसे में पर्यटन व्यवसाय को देशी पर्यटकों से कुछ आक्सीजन मिली थी. लेकिन अब कोरोना के पलटवार ने पर्यटन व्यवसाय को हिलाकर रख दिया है. होटलों की प्री-बुकिंग अब धड़ाधड़ कैंसिल हो रही हैं. स्थिति यह है कि कुछ दिन में दस हजार से ज्यादा बुकिंग कैंसिल हो चुकी हैं.

एफबी पर उदयपुर, इंस्टा पर जयपुर की सर्चिंग
एक सर्वे रिपोर्ट के अनुसार कोरोना की पहली लहर के दम तोड़ने के बाद जनवरी-फरवरी माह में होटल बुकिंग में काफी इजाफा हुआ था. यहां तक कि 90 फीसदी ट्रेवल बुकिंग इन्हीं दो माह के 15 दिनों में ही हो गई. टूरिज्म एक्सपटर्स का मानना है कि फरवरी में फैमिली आ​उटिंग काफी हुई है. रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय शहर यात्रियों के लिए पसंदीदा बने हुये हैं. प्रमुख शहरों में मुंबई के बाद उदयपुर को फेसबुक पर सबसे ज्यादा सर्च किया गया. इसी प्रकार पुणे और जयपुर इंस्टाग्राम पर तीसरे और चौथे नंबर पर रहे. हालांकि पुणे और जयपुर फेसबुक सर्चिंग में दिल्ली से पीछे थे.दूसरी लहर ने कराईं बुकिंग धड़ाधड़ कैंसिल

सर्वे के अनुसार 25 से 40 वर्ष के लोगों ने अंतिम समय में ही ट्रेवल प्लान बनाए. ट्रेवल प्लान कैंसिल करने की दर भी फरवरी माह में आठ फीसदी ही थी. राजस्थान की बात करें तो जैसलमेर, जयपुर और उदयपुर टॉप थ्री डेस्टिनेशन में से थे. शादी सीजन के चलते भी लोकल टूरिस्ट में इजाफा हुआ था. हालांकि कोरोना के चलते कई राज्यों ने पाबंदी लगा दी है, इसलिए मार्च में बुकिंग कम हो गई हैं. मार्च के पहले पखवाड़े में तो बुकिंग इसलिए भी कम हुई है कि लोग अब वैक्सीनेशन करवाकर ट्रेवल करना प्रेफर करने लगे. दूसरे पखवाड़े में कोरोना की दूसरी लहर की आहट के चलते लोगों ने अपने ट्रेवल प्लान मुल्तवी कर दिए.

अस्सी फीसदी पर्यटक आते हैं पिंकसिटी
राज्य में जितने भी देशी-विदेशी पर्यटक आते हैं उनमें से 80 फीसदी पर्यटक जयपुर में विश्वप्रसिद्ध पर्यटन स्थलों को देखने जरूर आते हैं. शेष 20 फीसदी पर्यटक राजस्थान में सीधे ही अपने पसंदीदा पर्यटक स्थलों जैसे उदयपुर, जोधपुर और जैसलमेर आदि पहुंचते हैं. बीते तीन महीनों में पर्यटकों की संख्या में एक लाख से ज्यादा तक की गिरावट दर्ज की गई है.

माह         पर्यटक प्रदेश           जयपुर
जनवरी      450784                376616
फरवरी      416910                361601
मार्च          313558                273424



<!–

–>

<!–

–>


window.addEventListener(‘load’, (event) => {
nwGTMScript();
nwPWAScript();
fb_pixel_code();
});
function nwGTMScript() {
(function(w,d,s,l,i){w[l]=w[l]||[];w[l].push({‘gtm.start’:
new Date().getTime(),event:’gtm.js’});var f=d.getElementsByTagName(s)[0],
j=d.createElement(s),dl=l!=’dataLayer’?’&l=”+l:”‘;j.async=true;j.src=”https://www.googletagmanager.com/gtm.js?id=”+i+dl;f.parentNode.insertBefore(j,f);
})(window,document,’script’,’dataLayer’,’GTM-PBM75F9′);
}

function nwPWAScript(){
var PWT = {};
var googletag = googletag || {};
googletag.cmd = googletag.cmd || [];
var gptRan = false;
PWT.jsLoaded = function() {
loadGpt();
};
(function() {
var purl = window.location.href;
var url=”//ads.pubmatic.com/AdServer/js/pwt/113941/2060″;
var profileVersionId = ”;
if (purl.indexOf(‘pwtv=’) > 0) {
var regexp = /pwtv=(.*?)(&|$)/g;
var matches = regexp.exec(purl);
if (matches.length >= 2 && matches[1].length > 0) {
profileVersionId = “https://hindi.news18.com/” + matches[1];
}
}
var wtads = document.createElement(‘script’);
wtads.async = true;
wtads.type=”text/javascript”;
wtads.src = url + profileVersionId + ‘/pwt.js’;
var node = document.getElementsByTagName(‘script’)[0];
node.parentNode.insertBefore(wtads, node);
})();
var loadGpt = function() {
// Check the gptRan flag
if (!gptRan) {
gptRan = true;
var gads = document.createElement(‘script’);
var useSSL = ‘https:’ == document.location.protocol;
gads.src = (useSSL ? ‘https:’ : ‘http:’) + ‘//www.googletagservices.com/tag/js/gpt.js’;
var node = document.getElementsByTagName(‘script’)[0];
node.parentNode.insertBefore(gads, node);
}
}
// Failsafe to call gpt
setTimeout(loadGpt, 500);
}

// this function will act as a lock and will call the GPT API
function initAdserver(forced) {
if((forced === true && window.initAdserverFlag !== true) || (PWT.a9_BidsReceived && PWT.ow_BidsReceived)){
window.initAdserverFlag = true;
PWT.a9_BidsReceived = PWT.ow_BidsReceived = false;
googletag.pubads().refresh();
}
}

function fb_pixel_code() {
(function(f, b, e, v, n, t, s) {
if (f.fbq) return;
n = f.fbq = function() {
n.callMethod ?
n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)
};
if (!f._fbq) f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s)
})(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘482038382136514’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);
}



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here