कोविड-19 के बाद एथलेटिक्स को होगा सबसे ज्यादा फायदा, जानिए वजह!

0
29


कोरोना के बाद एथलेटिक्स का खेल हो जाएगा सुपरहिट!

विश्व एथलेटिक्स के अध्यक्ष सबेस्टियन ने किया दावा कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण लोगों ने फिट रहना शुरू किया.

नई दिल्ली. विश्व एथलेटिक्स के अध्यक्ष सबेस्टियन को ने सोमवार को दावा किया कि कोरोना वायरस महामारी (Covid-19) के कारण जारी लॉकडाउन के बीच फिट रहने के लिए अधिक लोगों ने दौड़ना शुरू किया जिसका दुनिया भर में स्थिति सामान्य होने पर यह खेल फायदा उठा सकता है. को ने कहा कि अधिक लोगों ने चलने और दौड़ने को आदत बनाने का एथलेटिक्स को फायदा मिल सकता है और उनका खेल इस बढ़े हुए आधार को मजबूत करने का प्रयास करेगा.

ज्यादा लोग कर रहे हैं वर्कआउट
एशियाई एथलेटिक्स महासंघ (AFA) द्वारा आयोजित आनलाइन मीडिया सेमिनार के दौरान को ने कहा, ‘हम स्थानीय, क्षेत्रीय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य उद्देश्यों को पूरा करने में मदद करने के लिए काफी अच्छी स्थिति में हैं. अनुसंधान में पता चला है कि लॉकडाउन के दौरान पहले की तुलना में अधिक लोगों ने एक्सरसाइज को अपनाया है. कुछ अनुसंधान में दावा किया किया है कि वैश्विक एक्सरसाइज पैटर्न में 80 प्रतिशत इजाफा हुआ है.’ उन्होंने कहा, ‘एथलेटिक्स को मुख्य रूप से फायदा हुआ है क्योंकि लोग दौड़कर या चलकर एक्सरसाइज कर रहे हैं. यह काफी फायदे की स्थिति है. हम इसे नजरअंदाज नहीं करेंगे और महामारी के बाद इसे और मजबूत बनाने का प्रयास करेंगे. हम और अधिक युवा लोगों को इस खेल से जोड़ेंगे.’

को ने पार्करन ग्लोबल लिमिटेड के साथ गठजोड़ का भी जिक्र किया. ब्रिटेन की यह चैरिटी संस्था सप्ताहांत या खाली समय में दौड़ का आयोजन करती है. ओलंपिक की 1500 मीटर स्पर्धा में दो बार के स्वर्ण पदक विजेता को ने स्पष्ट किया कि उनका संगठन यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है कि रूस बड़े पैमाने पर डोपिंग के लिए मिली सजा का पालन करें. विश्व एथलेटिक्स परिषद ने 30 जुलाई को अपनी बैठक में फैसला किया था कि रूस महासंघ अगर 15 अगस्त से पहले 50 लाख डॉलर जुर्माने और खर्चे के 13 लाख 10 हजार डॉलर का भुगतान नहीं करता है तो उसकी सदस्य रद्द कर दी जाएगी. बड़े पैमाने पर डोपिंग के कारण रूस महासंघ लगभग पांच साल से निलंबित है और डोपिंग रोधी नियमों के उल्लंघन के लिए विश्व एथलेटिक्स को जुर्माने के तौर पर लाखों डॉलर के भुगतान की एक जुलाई की समय सीमा से चूक चुका है.


<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here