खुशखबरी: 200 करोड़ रुपये से सुधरेगी पीलीभीत की बिजली व्यवस्था, जानें क्‍या है ‘रिवैंप योजना’?

0
47


रिपोर्ट – सृजित अवस्थी

पीलीभीत. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के दौरान बिजली व्यवस्था का मुद्दा खूब गरमाया था. इस पर प्रदेश सरकार ने शहरी क्षेत्रों में 24 घंटे और ग्रामीण क्षेत्रों में 18 घंटे बिजली सप्लाई का दावा किया था, लेकिन अगर बात पीलीभीत की करें तो सरकार का यह दावा यहां फेल होता नजर आता है. 24 घंटे तो दूर की बात शहर वासियों को 20 घंटे भी बिजली नसीब नहीं हो पाती है. विद्युत विभाग इस चरमराई व्यवस्था के पीछे का कारण जर्जर हो रही विद्युत सप्लाई लाइनों, पुराने ट्रांसफार्मर और ओवरलोडिंग को मानता है. हालांकि बहुत जल्द सबकुछ बदलने वाला है.

दरअसल यूपी सरकर प्रदेश भर में रिवैंप योजना चलाने की तैयारी में है, जिसके तहत जिलों में विद्युत सप्लाई में फैली अव्यवस्थाओं को सुधारा जाना है. इसी योजना के तहत पीलीभीत में भी करीब 200 करोड़ के बजट से कई कार्य कराए जाने हैं. इससे पुरानी जर्जर लाइनों, पुराने ट्रांसफार्मर, जंपर्स और पोल वगैरह को बदला जाएगा.

जिले में होंगे दो बिजली घर

इस योजना के तहत पीलीभीत को दो बिजली घरों की सौगात भी मिलेगी. गौरतलब है कि शहर में बिजली उपभोक्ताओं की संख्या काफी बढ़ गई है. ऐसे में शहर में पहले से स्थापित बिजली घरों पर अधिक भार बढ़ गया है. इसी के चलते आए दिन फॉल्ट होते रहते हैं, लेकिन अब रिवैंप योजना के तहत पीलीभीत शहर और शहर से सटे बिठौरा कलां में विद्युत उप केंद्र बनाए जाएंगे, जो फॉल्ट्स को रोकने में कारगर साबित होंगे.

योजना की जानकारी देते हुए अधिशासी अभियंता ज्ञानेंद्र कुमार ने बताया कि जल्द ही सरकार द्वारा चलाई गई रिवैंप योजना शुरू की जाएगी, ताकि शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों को सुचारू बिजली सप्लाई की जा सकेगी.

Tags: Electricity Department, Electricity problem, Pilibhit news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here