खेल पुरस्कार विजेताओं का मानदेय बढ़ाने पर CM खट्टर के सम्मान में समारोह आयोजित

0
40


सीएम ने कहा- अपने युग को किस दिशा में लेकर जाना है, यह पूरी तरह से युवा के हाथ में होता है.

सीएम मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के रूप में एक और नरेंद्र है जो पूरे देश को एक नई दिशा देने का काम कर रहे हैं.

चंडीगढ़. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar) ने कहा कि युवा युग का वाहक होता है और अपने युग को किस दिशा में लेकर जाना है, यह पूरी तरह से युवा के हाथ में होता है. मुख्यमंत्री पंचकूला (Panchkula) में हरियाणा खेल विकास एवं कल्याण समिति द्वारा खेल पुरस्कार विजेताओं का मानदेय बढ़ाने पर उनके सम्मान में आयोजित एक समारोह में बोल रहे थे. इस अवसर पर केंद्रीय जल शक्ति राज्यमंत्री रतन लाल कटारिया, हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता और खेल एवं युवा मामले राज्य मंत्री संदीप सिंह भी मौजूद रहे.

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मंगलवार को पंचकूला में हरियाणा खेल विकास एवं कल्याण समिति द्वारा खेल पुरस्कार विजेताओं का मानदेय बढ़ाने पर उनके सम्मान में आयोजित एक समारोह में कहा कि भले ही आज आप मुझे सम्मानित कर रहे हों लेकिन वास्तव में, मैं आपका अभिनंदन करने यहां आया हूं क्योंकि आप खिलाड़ी ही युवाओं के प्रेरणास्रोत हैं. उन्होंने कहा कि आज  स्वामी विवेकानंद का जन्म दिन है जिसे राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है. युवा उम्र से नहीं बल्कि कामों से होता है.

उन्होंने कहा कि बचपन में स्वामी विवेकानंद का नाम नरेंद्र था जिन्होंने समाज सुधार का कार्य किया. वहीं आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रूप में एक और नरेंद्र है जो पूरे देश को एक नई दिशा देने का काम कर रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि नीवं अच्छी होगी तो इमारत अपने आप अच्छी बनती है. इसलिए सबसे पहले हमें बचपन को संभालना है. उन्हें ठीक से शिक्षित और संस्कारित करना है, तभी भविष्य उज्जवल होगा.

उन्होंने कहा कि शिक्षा में रुचि रखने वालों के लिए सरकार द्वारा शिक्षा, कौशल और रोजगार के क्षेत्र में कई तरह की योजनाएं चलाई जा रही हैं. लेकिन यदि किसी की रुचि शारीरिक दम-खम दिखाने में है तो उसे खेलों के क्षेत्र में प्रोत्साहित किया जाना चाहिए. संयोग से हरियाणा में खेल में रुचि रखने वाले युवाओं की कमी नहीं है और हमारे युवाओं का मन खेल व फौज में बखूबी लगता है. यही कारण है कि देश की आबादी का मात्र 2 प्रतिशत होने के बावजूद सेना में हमारे युवाओं की भागीदारी 11 प्रतिशत  है.उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की बेहतरीन खेल नीति की बदौलत विभिन्न खेल स्पर्धाओं में कुल मेडल का 33 प्रतिशत हरियाणा के खिलाड़ी लेकर आते हैं. उन्होंने कहा कि आज हरियाणा में दी जाने वाली अवार्ड मनी देश-दुनिया में सबसे ज्यादा है. राज्य सरकार द्वारा ओलंपिक में स्वर्ण पदक विजेता को 6 करोड़ रुपए, रजत पदक विजेता को 4 करोड़ तथा कांस्य पदक विजेता को ढाई करोड़ रुपए की राशि दी जाती है. इसके अलावा, अन्य खेलों के पदक विजेताओं को भी यथोचित सम्मान दिया जाता है. उन्होंने कहा कि अर्जुन अवॉर्डी को 2008 में 5000 रुपए की राशि दी जाती थी जिसे अब बढ़ाकर 20000 रुपए कर दिया गया है.

मुख्यमंत्री ने समारोह में मौजूद विभिन्न अवार्डियों को संबोधित करते हुए कहा कि एक खिलाड़ी के रूप में हमने आपको खेल मंत्री दिया है और भविष्य में भी सरकार की तरफ से खेलों के प्रोत्साहन में कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा बचपन से ही खिलाड़ियों की प्रतिभा तराशने के मकसद से शुरू की गई कैच देम यंग की नीति के तहत प्रदेश भर में 500 से अधिक खेल नर्सरियां चलाई जा रही हैं.


<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here