गरीबों के घर पर अमीरों का कब्जा, जानें- मथुरा के डूडा विभाग में हो रहा भ्रष्टाचार का कैसा खेल?

0
54


चंदन सैनी/मथुरा. उत्तर प्रदेश के मथुरा-वृंदावन में केंद्र और प्रदेश सरकार द्वारा गरीबों के लिए चलाई जा रहीं योजनाएं सिर्फ कागजों तक सिमट कर रह गई हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि, डूडा आवास योजना के तहत गरीबों और जरूरतमंदों को घर देना था. लेकिन करोड़पितयों को लाभ देकर गरीबों को फिर से ठोकरें खाने के लिए मजबूर कर दिया गया है. वहीं इसकी शिकायत करने पर कोई भी अधिकारी सुनने को तैयार नहीं है.

दरअसल वृंदावन के डूडा आवास को यह सोचकर बनवाया गया था कि, यहां गरीबों को रहने के लिए छत मिलेगी. लेकिन यहां गरीबों को छत तो नहीं, लेकिन भ्रष्टाचार करते हुए अमीरों को आवास जरूर आवंटित कर दिए गए हैं. वृंदावन के डूडा आवासों में रहने वाले लोगों से बात की तो उन्होंने बताया कि, यहा गरीब बिना घर के मारे-मारे फिर रहे हैं.

गरीबों के घर पर अमीरों का कब्जा
NEWS 18 LOCAL से बात करते हुए स्थानीय नागरिक गोवर्धन चक्रवर्ती और नंदा नाम की महिला ने बताया कि, ब्लॉक नंबर 7 में S-1 में रहने वाला व्यक्ति पटवारी है. वहीं ब्लॉक नंबर 11 G-4 में अतुल मिश्रा पुत्र रमेश मिश्रा तीन आश्रमों का संचालक है. करोड़पति है लेकिन उसको डूडा के फ्लैट दे दिए गए हैं. संतोष पाल नाा कहना है कि, ब्लॉक 11 में G-1 नंबर का फ्लैट नसरू पुत्र मुरादी निवासी गौरा नगर वृंदावन के नाम पर है. यह व्यक्ति बिजनेस करता है. इसे भी ढूंढा का लाभ दे दिया गया. बात यहीं पर नहीं रुकी ब्लॉक नंबर 9 का G-4 फ्लैट वृंदावन के महंत जी को दिया गया है. कभी-कभी आते हैं और यह देख कर चले जाते हैं कि, किसी ने उनके फ्लैट पर कब्जा तो नहीं किया. यहां गरीबों के लिए आशियाना तो दूर रहने के लिए झोपड़ी नहीं है. वहां करोड़पति डूडा आवास का भरपूर आनंद ले रहे हैं.

एसडीएम ने कहा जांच और होगी कार्रवाई
इस पूरे प्रकरण को लेकर जब एसडीएम नीतू रानी से बात की गई तो उन्होंने कहा कि यह जांच का विषय है. जांच के बाद ही हम लोग कुछ कह पाएंगे. उन्होंने कहा कि, अगर कुछ लोग ऐसे हैं जो समृद्ध हैं और उनको ढूंढा आवाज दिए गए हैं. तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

Tags: Mathura news, Uttar pradesh news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here