गाजियाबाद के शराब विक्रेता लाइसेंस सरेंडर करने की तैयारी में, ये है वजह

0
23


गाजियाबाद. दिल्‍ली की शराब नीति गाजियाबाद आबकारी विभाग के लिए परेशानी का कारण बन गयी है. हालत यह हो गयी है कि कई शराब विक्रेता लाइसेंस सरेंडर करने के लिए आवेदन कर चुके हैं. दिल्‍ली में सस्‍ती शराब होने के साथ साथ एक साथ ए‍क या दो बोतल तक फ्री हैं. इस वजह से लोग दिल्‍ली से शराब खरीदना पसंद कर रहे हैं.

गाजियाबाद आबकारी विभाग के अनुसार पिछले तीन महीने में 35.21 करोड़ का घाटा हुआ है. अप्रैल से जुलाई 2021 के बीच जिले में 460.41 करोड़ की शराब की बिक्री हुई तो जो चालू वित्त वर्ष में इसी अवधि में घटकर 425.20 करोड़ हो गई है. अकेले जुलाई माह में पिछले वर्ष जहां 105.82 करोड़ की शराब की बिक्री हुई थी, वहीं पर इस वर्ष बिक्री कम होकर 96.76 करोड़ पर आ गई है. इस तरह 9.06 करोड़ का नुकसान केवल एक माह में हुआ है.

जिला आबकारी अधिकारी राकेश कुमार सिंह के अनुसार दिल्ली में शराब की नई नीति के तहत सस्ती शराब की बिक्री का रिकार्ड टूटने से यह नुकसान हुआ है. शराब की एक बोतल के साथ एक या दो बोतल फ्री में मिलने पर यहां के लोग दिल्ली से शराब खरीदकर लाने लगे हैं. इसके साथ ही कांवड़ यात्रा के चलते भी शराब की बिक्री कम हुई है. यही वजह है कि लंबे समय बाद जिले में विगत तीन महीने में सबसे अधिक 20,322 लीटर तस्करी की शराब के साथ 216 तस्करों को गिरफ्तार करते हुए 104 वाहन जब्त किए गए हैं. दिल्ली से शराब खरीदकर लाने वाले कई युवा और आर्थिक रूप से सक्षम लोग शामिल हैं.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

FIRST PUBLISHED : August 05, 2022, 16:01 IST



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here