गाजियाबाद में आवारा कुत्तों का खौफ, डॉग लवर्स और पीड़ितों में छिड़ी बहस, जानिए सवाल-जवाब

0
19


रिपोर्ट- विशाल झा

गाजियाबाद: प्रदेश भर में एक के बाद एक खतरनाक नस्लों के कुत्तों के द्वारा बच्चों पर हुए हमलों ने लोगों के दिलों में भय पैदा कर दिया है. बच्चों और बुजुर्गों को लेकर लोग ज्यादा डरे हुए हैं. सड़क, गली, मोहल्ला या फिर पार्क में हुई घटनाओं ने ज्यादा डर पैदा कर दिया है. वहीं जैसे ही कुत्तों के हमले बढ़े सोसाइटी में रहने वालों के बीच एक बहस शुरू हो गई. एक वर्ग ऐसा था जो सोसाइटी में कुत्तों के रहने का फेवर कर रहा थो तो दूसरा कुत्तों को बाहर भगाने के पक्ष में था. डॉग लवर्स और डॉग विक्टिम के बीच सवाल -जवाब का सिलसिला तेज हो गया. इसी बीच गाज़ियाबाद नगर निगम ने कुछ आंकड़े जारी किए जिसके बाद तस्वीर साफ हो गई.

गाजियाबाद नगर निगम के आंकड़े
कुत्तों को लेकर बहस छिड़ी ही थी कि, नगर निगम ने एक आंकड़ा जारी कर दिया. जिसके मुताबिक जिले में कुल 20 हजार से ज्यादा कुत्ते हैं. वहीं शहर में इनमें से अब तक कुल 2,600 का पंजीकरण हुआ है. उसमें भी 1,456 (56% ) खतरनाक नस्ल के है. जबकि शहर की बात करें तो कुल 70 नस्लों के कुत्ते पाले जा रहे है.

कुत्तों के हमलों के बाद अलर्ट
बच्चों और बुजुर्गों पर लगातार हो रहे हमलों को लेकर एओए और आरडब्लूए सख्त रुख अपना रही हैं. इंदिरापुरम स्थित ऑरेंज काउंटी सोसाइटी एओए बोर्ड ने अपनी एडवाइजरी में कहा कि कोई भी अपना पालतू कुत्ता लेकर बाहर जाएगा. तो केवल बड़ी लिफ्ट का ही इस्तेमाल करेगा.

इस दौरान उस लिफ्ट में कोई अन्य ना हो. यही नहीं अगर पालतू कुत्ता काट ले तो उसके मालिक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने में एओए बोर्ड पूरी मदद करेगा.

Tags: Dog Breed, Dog Lover, Ghaziabad News, Ghaziabad Police, Municipal Corporation, UP news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here