गाजियाबाद में सफाई कर्मियों को दी जाएगी ट्रेनिंग, प्रदूषण कम करने के लिए बदलेगा सफाई का तरीका

0
13


गाजियाबाद. जिले में प्रदूषण को कम करने के लिए, नगर निगम अब सफाई कमियों को ट्रेनिंग देगा. शहर में साफ-सफाई का मैकेनिज्म बदला जाएगा. नए प्लान के तहत सफाई कर्मचारियों को इस तरह से झाडू लगाने के लिए कहा गया है, जिससे धूल कम उड़े और प्रदूषण का लेवल कम हो. अभी तक नगर निगम के कर्मचारी परंपरागत तरीके से झाडू लगाकर साफ सफाई करते हैं, जिससे खूब धूल उड़ती है.

नगर निगम में ऐसी शिकायतें कई जगह से मिली हैं कि कई कर्मचारी रेत और कच्चे स्थान पर भी झाडू उसी तरह से लगाते हैं, जिस तरह से पक्की सड़क या पक्के स्थान पर झाडू लगाई जाती है. इससे धूल उड़ती है और वातावरण और प्रदूषित होता है. अब नगर निगम ने झाडू लगाने के कर्मचारियों के पंरपरागत तरीके को बदलने की तैयारी की है. नगर निगम का कहना है कि नगर निगम के सफाई कर्मचारियों को पहले ही इसके लिए प्रशिक्षित किया जा चुका है. मगर, कई ऐसे कर्मचारी हैं जो इस प्रशिक्षण के दौरान दिए गए टिप्स का पालन नहीं कर रहे हैं, इन्‍हें दोबारा से ट्रेनिंग दी जाएगी.

कर्मचारियों को बताया जाएगा कि अगर वह कच्ची मिट्टी, रेत या फिर कच्ची जमीन पर झाड़ू लगा रहे हैं तो इस तरह से वहां झाडू लगाएं जिससे धूल नहीं उड़े. इनके लिए सभी सफाई कर्मचारियों को मौखिक तौर पर निर्देश देने के लिए सभी सुपराइजरों को कहा गया है. फिर भी अगर कोई कर्मचारी निर्देश का पालन नहीं करेगा तो उनको चिन्हित किया जाएगा. बाद में ऐसे कर्मचारियों को और टिप्स दिए जाएंगे.

निगम की 80 फीसदी नोटिस में गलती

नगर निगम बोर्ड की बैठक में शहर में जीआईएस सर्वे के नाम पर गलत नोटिसों का मसला उठाया गया. सदन ने चिंता जताई गई कि जो नोटिस जीआईएस सर्वे के नाम पर तैयार किए जा रहे हैं उनमें करीब 80 प्रतिशत नोटिसों में गलती है. नगर निगम ढंग से इन गलत नोटिसों की सुनवाई भी नहीं कर रहा है. अगर गलत नोटिसों के आधार पर लोगों से टैक्स मांगा गया तो इससे नगर निगम में भ्रष्टचार बढ़ने की आशंका भी व्यक्त की गई थी.

Tags: Ghaziabad News, Uttar pradesh news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here