गुलाम नबी आजाद के पद्म भूषण सम्मान पर कांग्रेस में घमासान, दिग्गजों में शुरू हुई जुबानी जंग | Ruckus in Congress over Ghulam Nabi Azad Padma Bhushan Award | Patrika News

0
137


केंद्र सरकार की ओर से पद्म पुरस्कारों की घोषणा कर दी गई है। खास बात यह है कि 12 वर्ष बाद किसी कांग्रेस नेता को पद्म पुरस्कार से नवाजा जा रहा है। ये अवॉर्ड कांग्रेस वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद को दिया जा रहा है। हालांकि इस बार कांग्रेस में ही मतभेद शुरू हो गया है।

नई दिल्ली

Published: January 26, 2022 03:42:13 pm

केंद्र सरकार ने इस वर्ष के पद्म पुरस्कारों में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद को भी सूची में शामिल किया है। गुलाम नबी आजाद को इस वर्ष पद्म भूषण अवॉर्ड से नवाजा जा रहा है। हालांकि उनके नाम की घोषणा के साथ ही कांग्रेस में घमासान शुरू हो गया है। गुलाम को पद्म भूषण दिए जाने को लेकर जहां कांग्रेस के कद्दावर नेता और वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने खुशी जाहिर करते हुए कांग्रेस पर ही तंज कसा है वहीं जयराम रमेश ने बुद्धदेब भट्टाचार्य के बहाने गुलाम नबी आजाद को आड़े हाथों लिया है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद को पद्म भूषण से सम्मानित किए जाने को लेकर अपनी ही पार्टी कांग्रेस पर तंज कसा है। सिब्बल ने व्यंग्य करते हुए कहा, ‘यह विडंबनापूर्ण है कि कांग्रेस को गुलाम नबी आजाद की सेवाओं की जरूरत नहीं है, जबकि देश उनके योगदान का सम्मान कर रहा है।’
वरिष्ठ कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने ट्वीट कर कहा, ‘गुलाम नबी आजाद पदम भूषण से सम्मानित। बधाई भाईजान। विडंबना यह है कि कांग्रेस को उनकी सेवाओं की आवश्यकता नहीं है, लेकिन देश सार्वजनिक जीवन में उनके योगदान का सम्मान कर रहा है।’

यह भी पढ़ें

नहीं चाहिए अवार्ड! इन्होंने ठुकरा दिया पद्म सम्मान, जानिए क्या है वजह

एक तरफ कपिल सिब्बल ने गुलाम नबी आजाद का समर्थन किया तो दूसरी तरफ कांग्रेस पर एक बार फिर हमला बोल दिया। दरअसल सिब्बल जी23 के नेताओं में से एक हैं जो पहले भी कांग्रेस में बदलाव को लेकर कई बार मोर्चा खोल चुके हैं। हालांकि पार्टी में अब यह समूह सक्रिय नहीं है।

Ruckus in Congress over Ghulam Nabi Azad Padma Bhushan Award

कांग्रेस के दूसरे वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने गुलाम नबी आजाद को पद्म भूषण दिए जाने को लेकर सीधे तो तंज नहीं कसा लेकिन उन्होंने पश्चिम बंगाल के पूर्व सीएम बुद्धदेव भट्टाचार्य के बहाने जरूर चुटकी ली। दरअसल बुद्धदेव भट्टाचार्य ने पद्म सम्मान लेने से इनकार कर दिया है ऐसे में जयराम रमेश ने ट्वीट करते हुए कहा कि, ‘सही फैसला किया, वह आजाद रहना चाहते हैं न कि गुलाम।’

12 वर्ष बाद कांग्रेस नेता को सम्मान

बता दें कि साल 2008 के बाद पद्म पुरस्कार पाने वाले गुलाम नबी आजाद दूसरे कांग्रेसी नेता हैं। 2008 में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को पद्म विभूषण से नवाजा गया था। उस दौरान वे यूपीए सरकार में मंत्री भी थे। इसके अलावा प्रणब मुखर्जी को 2019 में भारत रत्न से भी नवाजा गया था।

अगली खबर





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here