गोरखपुर की डॉ. प्रीति मिश्रा मौत केस में झांसी पुलिस ने लगाई थी एफआर: सीबीसीआईडी भी नहीं दिला पाई इंसाफ, आरोपी है मुख्तार का करीबी

0
21


झांसी. मुख्यमंत्री के जिले की बेटी के परिवार को मौत के सात साल बाद इंसाफ नहीं मिला. गोरखपुर की रहने वाली डॉक्टर प्रीति मिश्रा को संदिग्ध हालातों में ड्रिप लगाई गई थी जिसके बाद उसकी मौत हो गई थी. इस मामले में नवाबाद थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था. नवाबाद थाने की पुलिस ने मुकदमे को जांच में खत्म कर दिया था. पुलिस ने धारा 302 के मुकदमे में एफआर लगा दी है.

इसके बाद मृतक महिला डॉक्टर के भाई ने एक प्रार्थना पत्र कानपुर में सीबीसीआईडी को दिया था. कानपुर की सीबीसीआईडी ने नवाबाद थाने में दर्ज 302 के मुकदमे में जांच शुरू की. इस पर गोरखपुर की रहने वाली मृतक डॉक्टर प्रीति मिश्रा और मऊ जिले के रहने वाले राहुल राय पहले सैफई मेडिकल कॉलेज में एक साथ पढ़ाई करते थे. उस दौरान भी डॉक्टर प्रीति मिश्रा ने दो बार सुसाइड की कोशिश की थी. इसके बाद दोनो झांसी मेडिकल कॉलेज में एमडी की पढ़ाई करने चले आए थे.

झांसी मेडिकल कालेज में एक अक्टूबर 2016 को प्रीति की तड़के सुबह मौत हो गई थी. प्रीति के परिजनों ने बेटी की जहर देकर हत्या किए जाने की लिखित शिकायत दर्ज की थी. प्रीति के मुंह से झाग भी निकला हुआ पाया गया था. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट नहीं होने के बाद बिसरा प्रिजर्व किया गया था.

मुख्तार का नजदीकी ​है अरोपी डा. राहुल राय
आरोपी डा. राहुल राय मऊ जिले के एक चर्चित डॉक्टर सुरेंद्र नाथ राय का बेटा है जो मूल रूप से गाजीपुर जनपद के रहने वाले हैं. सूत्रों के मुताबिक डॉक्टर सुरेंद्र नाथ राय माफिया मुख्तार अंसारी के करीबी भी माने जाते हैं. सीबीसीआईडी ने जैसे ही जांच को आगे बढ़ाया तो जांच में आरोपी डाक्टर राहुल राय आईपीसी की धारा 306 का आरोपी होना पाया गया. इसके बाद सीबीसीआईडी ने आरोपी डॉक्टर राहुल राय की खोज में राहुल राय के घर पर दस्तक दी. इस पर आत्महत्या के लिए प्रेरित करने के आरोपी डॉक्टर राहुल राय के पिता सुरेंद्र राय ने बेटे डॉक्टर के विदेश में ट्रेनिंग करने की जानकारी दी.

आरोपी डॉक्टर की अगिंम जमानत खारिज
इस मामले में झांसी में आरोपी डॉक्टर राहुल राय की अग्रिम जमानत को भी सेशन कोर्ट ने खारिज कर दिया. लव सेक्स धोखे की शिकार होने की आशंका के बाद मृतक गोरखपुर की बेटी की मौत के सात साल बाद भी झांसी पुलिस के बाद सीबीसीआईडी भी गोरखपुर की बेटी को इंसाफ नहीं दिला पाई. गोरखपुर की बेटी को आत्महत्या के लिए मजबूर करने का आरोपी डॉक्टर गिरफ्तार तक नहीं हुआ. झांसी पुलिस भी गोरखपुर की बेटी की मौत की गुत्थी सुलझाने में नाकाम नजर आ रही है.

Tags: Gorakhpur news, Jhansi news, Mukhtar ansari, Up crime news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here