गोरखपुर: युवाओं से बोले सीएम योगी- राष्ट्रसेवा का अवसर है अग्निपथ योजना, विपक्षियों के बहकावे में न आएं

0
6


लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अग्निपथ योजना को लेकर कहा कि ये युवाओं के लिए राष्ट्रसेवा का अवसर है. सीएम ने कहा कि जीवन तो सभी जीते हैं, लेकिन उसका जीवन सर्वाधिक सम्मानीय हो जाता है जिसे प्रत्यक्ष रूप से राष्ट्र की सुरक्षा में रत होकर सेवा का अवसर मिलता है. मां भारती की सेवा करने का सौभाग्य विरलों को मिलता है. आप सभी अग्निवीर बनकर उन विरलों में शामिल हो सकते हैं. अग्निपथ वह पथ है जहां पहुंचकर आपको सुनहरे भविष्य के अवसरों के अनेकानेक मार्ग नजर आएंगे.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को गोरखनाथ मंदिर में आयोजित जनता दर्शन के दौरान युवाओं का मार्गदर्शन करते हुए कहा कि सिर्फ केंद्र की मोदी सरकार का विरोध करने वाले राजनीतिक दल ही इस अति महत्वपूर्ण और अवसरप्रदायी योजना का तथ्यहीन और तर्कहीन प्रलाप कर देश के नौजवानों को बरगला रहे हैं. जबकि देश की सेवा को सर्वोच्च प्राथमिकता देने वाले सेना के वर्तमान और पूर्व सैनिक-अधिकारी इसे अभूतपूर्व कदम मान रहे हैं. सीएम योगी ने युवाओं को बताया कि यह कहना कि अग्निवीरों को भविष्य असुरक्षित रहेगा, वह चार साल की सेवा के बाद किसी काम लायक नहीं रह जाएंगे, समाज के लिए खतरा बन जाएंगे, यह क्षुद्र विचार है.

सीएम योगी ने युवाओं को गिनाए अग्निपथ योजना के फायदे
उन्होंने कहा कि यूएसए, यूनाइटेड किंगडम, रूस, इजराइल, चीन व फ्रांस जैसे देशों में भी युवा इस तरह की योजना से जुड़कर देश सेवा और उज्ज्वल भविष्य से गौरवानुभूति कर रहे हैं. अग्निपथ ऐसी योजना है जो युवाओं को चार साल सेना की सेवा के साथ ही समाज को अनुशासित और प्रशिक्षित नागरिक उपलब्ध कराएगी. सीएम योगी ने युवाओं की भ्रांतियों को दूर करते हुए कहा कि सरकार अग्निवीरों को प्रतिमाह तीस से चालीस हजार रुपये वेतन देने के साथ ही बीमा, जोखिम भत्ता, कैंटीन के साथ अन्य सुविधाएं भी देगी. उन्होंने कहा कि प्रभु न करें कि किसी अग्निवीर के साथ अनहोनी हो लेकिन किन्हीं परिस्थितियों में ऐसा हुआ तो शहीद होने पर सरकार उनके परिजन को एक करोड़ रुपये तथा बचे हुए सेवाकाल का पूर्ण वेतन भुगतान करेगी.

अग्निवीरों को मिलेगा नौकरियों में आरक्षण
दिव्यांगता होने को दशा में शेष सेवाअवधि का पूर्ण वेतन भुगतान के अलावा 44 लाख रुपये तक दिव्यांगता क्षतिपूर्ति दी जाएगी. उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि सेवा पूर्ण करने के बाद अग्निवीरों के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा कम्बाइंड आर्म्ड पुलिस फोर्सेज तथा असम राइफल्स में 10 प्रतिशत रिक्तियों के साथ आयु सीमा में भी छूट दी जाएगी. रक्षा से जुड़े लोक उद्यमों (डिफेंस पीएसयू), कोस्ट गार्ड और डिफेंस सिविलियन की भर्ती में भी 10 प्रतिशत रिक्तियां अग्निवीरों के लिए होंगी. उत्तर प्रदेश सरकार भी पुलिस व अन्य भर्तियों में अग्निवीरों को विशेष आरक्षण देगी. कई औद्योगिक घरानों ने भी अग्निवीरों को अपने यहां नियुक्तियों में वरीयता देने की पहल की है और, यदि अग्निवीर अपनी सेवा पूर्णता के बाद उद्यमी या कारोबारी बनना चाहेंगे तो उन्हें कई स्वरोजगार योजनाओं के जरिये भारी अनुदान पर ऋण उपलब्ध कराने के साथ तमाम सुविधाएं दी जाएंगी.

Tags: Agniveer, CM Yogi Adityanath, Gorakhpur news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here