चंदौली: इंडो-इजराइल सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर वेजिटेबल शुरू, किसानों की आय 4 गुना होने का दावा

0
53


हाइलाइट्स

विश्व प्रसिद्ध है चन्दौली का ब्लैक राइस
प्रधानमंत्री मोदी से लेकर सीएम योगी तक कर चुके हैं तारीफ

चंदौली: उत्तर प्रदेश के चंदौली का ब्लैक राइस विश्वभर में प्रसिद्ध है. UNDP से लेकर विश्व स्तर की कई बड़ी संस्थाएं इसकी तारीफ कर चुकी हैं. देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक चंदौली के इस चावल की तारीफ करते नहीं थकते. इस चावल के इतनी प्रसिद्धि के बावजूद यह योगी सरकार के एक मंत्री को रास नहीं आ रहा.

योगी सरकार में कृषि मन्त्री सूर्यप्रताप शाही ने ब्लैक राइस की गुणवत्ता पर सवाल खड़े किए हैं. उन्होंने कहा कि ब्लैक राइस कम गुणवत्ता का दिख रहा है. हालांकि उन्होंने फसलों की गुणवत्ता के लिए अंतरराष्ट्रीय अनुसंधान केंद्र की सहायता लेने की बात कही है. लेकिन कृषि मन्त्री द्वारा चावल की गुणवत्ता पर सवाल उठाए जाने से, चंदौली के उन ब्लैक राइस के किसानों की धड़कन बढ़ गई है जिनका 2 हजार क्विंटल ब्लैक राइस सरकारी गोदामों में सड़ रहा है.

किसानों की आय चार गुनी बढ़ जाएगी
दरअसल चन्दौली के माधोपुर गांव में इण्डो-इजराइल सेंटर आफ एक्सीलेंस फाॅर वेजिटेबल का उद्घाटन सोमवार को सूबे के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही और केंद्रीय भारी उद्योग मंत्री डा. महेंद्रनाथ पांडेय द्वारा किया गया. कृषि क्षेत्र में इसे पूर्वांचल का बड़ा केंद्र करार दिया जा रहा है. कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि इससे एकीकृत खेती के साथ ही आधुनिक खेती की जा सकेगी. जिससे किसानों की आय ना केवल दोगुनी होगी, बल्कि बढ़कर चार गुनी होने की पूरी संभावनाएं है.

कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि चंदौली स्थित नवीन मंडी में जल्द ही मछली पालन के लिए 36 करोड़ की लागत से सेंटर बनने जा रहा है. जिसके माध्यम से चंदौली, वाराणसी, गाजीपुर आदि जनपदों में मछली पालन को बढ़ावा देकर किसानों व पालकों की आय में सुधार किया जाएगा. इस सेंटर के जरिए मछली पालकों को जापानी तकनीक पर आधारित पालन की जानकारी दी जाएगी. बताया गया कि एक्सीलेंस सेंटर से किसानों को सब्जी के शोधित व उन्नत प्रजाति के पौधे एक-दो रुपये में मिलेंगे, जिसकी खेती करके किसान अच्छा उत्पादन व अच्छी आय अर्जित कर सकेंगे. इसी कार्यक्रम के दौरान कृषि मन्त्री सूर्य प्रताप ने ब्लैक राइस की गुणवत्ता पर सवाल खड़े कर दिए. जिससे ब्लैक राइस की पैदावार करने वालों की चिंता बढ़ गई है.

7 करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किए जाएंगे 
कार्यक्रम में मौजूद केंद्रीय भारी उद्योग मंत्री डा.महेंद्रनाथ पांडेय ने कहा कि इण्डो-इजराइल सेंटर आफ एक्सीलेंस फार वेजिटेबल के निर्माण पर शुरुआत में सात करोड़ तीन लाख रुपये खर्च किए जाएंगे. जिसमें केंद्र के साथ-साथ राज्य सरकार की भागीदारी है. करीब 7 करोड़ की शुरुआती लागत से इसका शुभारंभ किया गया. साथ ही यह भी बताया कि आगामी दिनों में कुछ और सेंटर चंदौली लोकसभा अंतर्गत स्थापित किए जाने हैं, जिससे चंदौली के किसानों को अच्छा-खासा मुनाफा होगा. केंद्रीय मन्त्री ने दावा किया कि भाजपा सरकार ने देश और राज्य में कृषि को निरंतर बढ़ावा देने का काम किया है.

Tags: Chandauli News, Chief Minister Yogi Adityanath, CM Yogi Aditya Nath, Narendra modi, Uttarpradesh news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here