जानिए:- आखिर क्यों मेरठ से दिल्ली लाल किले तक एक बार फिर से निकली पदयात्रा

0
12


रिपोर्ट विशाल भटनागर, मेरठ
मेरठ:- देश को आजाद कराने के लिए जिस प्रकार मेरठ की क्रांति धरा से उद्घोष हुआ था. सैनिकों का जत्था दिल्ली delhi के लिए रवाना हुआ था. उसी तरह का नजारा एक बार फिर से मेरठ meerut में देखने को मिला. लेकिन अंतर सिर्फ इतना था उस समय देश को आजाद कराने के लिए क्रांतिकारियों ने उद्घोष शुरू किया था. अब उन क्रांतिकारियों को नमन करने के लिए मेरठ के इतिहासकार प्रोफ़ेसर और युवाओं ने पदयात्रा का शुभारंभ किया गया. जी हां चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय परिसर Chaudhary Charan Singh University campus में संचालित इतिहास और साहित्यिक सांस्कृतिक परिषद के तत्वाधान में पदयात्रा March मेरठ से रवाना हो चुकी है. जो दिल्ली लाल किला पहुंचेगी.
क्रांतिकारियों को करेंगे नमन
पदयात्रा करते हुए विभिन्न महापुरुषों के के समक्ष माल्यार्पण करते हुए विक्टोरिया पार्क, ओघडनाथ मंदिर, शहीद स्मारक, घंटाघर रेलवे रोड होते हुए मोदीनगर में पहुंच चुकी है .जहां पर क्रांतिकारियों को उनके ही स्थान पर जाकर नमन किया. जो पदयात्रा निकली है इसमें युवा उन सभी क्रांति स्थलों पर जाएंगे.जहां से क्रांतिकारियों ने देश को आजाद कराने के लिए उद्घोषकिया था
165 भी वर्षगांठ पर निकाली गई है यात्राचौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय से जो यह पदयात्रा शुरू हुई है. यह देश को आजाद कराने की जो मुहिम 10 मई 1857 को शुरू हुई थी. उसी के उपलक्ष में निकाली गई. जिससे युवाओं को पता चल सके कि किस प्रकार क्रांतिकारियों ने योगदान देते हुए देश को आजाद कराया था. 11 मई को यह यात्रा दिल्ली लाल किले पर पहुंचेगी और लाल किले पर शहीदों को नमन करेगी.यात्रा का शुभारंभ सीसीएसयू प्रति कुलपति प्रोफेसर वाई विमला, परीक्षा नियंत्रक डॉ अश्विनी कुमार. साहित्यिक सांस्कृतिक परिषद के संयोजक प्रोफेसर विग्नेश त्यागी, पूर्व मंडल आयुक्त आरके भटनागर सहित अन्य लोग उपस्थित रहे.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

FIRST PUBLISHED : May 11, 2022, 11:51 IST



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here