जान बचाने का जुनून… 100 बार रक्तदान का रिकाॅर्ड बना चुके शैलेश अस्थाना से मिलिए, अपने पास रखिए इनका पता

0
11


रिपोर्ट – अंजलि सिंह राजपूत

लखनऊ. किसी भी आड़े वक्त अगर आपको खून की ज़रूरत पड़ती है, तो अब आपको ब्लड बैंक में उपलब्धता पर निर्भर रहने की ज़रूरत नहीं. लखनऊ में एक ऐसा समाजसेवी हैं, जो ऐसे समय में रक्त उपलब्ध करवाने के लिए आपके बड़े मददगार साबित हो सकते हैं. इनका नाम है शैलेश अस्थाना. देश भर के रक्तदाताओं के साथ लिंक रखने वाले अस्थाना खुद ब्लड डोनेट करने का रिकाॅर्ड बना चुके हैं. इसी महीने उन्होंने अपने जीवन में 100वीं बार रक्तदान किया. यह प्रेरणा उन्हें कैसे मिली? इसकी कहानी बयान करने के साथ ही आपके काम की बात यह भी है कि आप इमरजेंसी के समय सीधे उनसे संपर्क कर सकते हैं.

असल में, 19 साल की उम्र में एक हादसे में शैलेश अस्थाना के छोटे भाई की आंत फट जाने की वजह से खून बहुत बह गया था. भाई को खून की ज़रूरत थी. तब न ही उनका परिवार साथ आया और न ही कोई पड़ोसी. अस्थाना ने बताया कि उस वक्त शिव चालीसा कि पंक्तियां याद आई थीं, जिनमें लिखा है ‘मात पिता भ्राता सब होई, संकट में पूछत नहीं कोई.’ तब कुछ दोस्तों के साथ मिलकर अस्थाना ने पहली बार रक्तदान किया था और अपने भाई की जान बचाई थी. उस हादसे के बाद अस्थाना ने और भी लोगों की जान बचाने का संकल्प लिया.

आप भी कर सकते हैं संपर्क

शैलेश अस्थाना ने बताया कि 19 साल की उम्र में हुए उस घटनाक्रम के बाद से संकल्प लेकर वह भारत विकास परिषद से जुड़े. अस्थाना के व्हाट्सएप ग्रुप्स हैं, जिसमें देश भर के हज़ारों रक्तदाता ननके संपर्क में हैं. कहीं भी किसी को खून की जरूरत होती है, तो उसे पूरी मदद देते हैं. उन्होंने खुद एक डेटाबेस बना रखा है, जिसमें परिषद के हर एक सदस्य, उनके ब्लड ग्रुप और काॅंटेक्ट नंबर जैसी जानकारियां हैं. वह तत्काल प्रभाव से लोगों की मदद कई बार कर चुके हैं.

उन्होंने बताया कि लोगों को जिस ब्लड ग्रुप का खून मिलने में बहुत दिक्कत होती है, वह O Negative जैसे ब्लड ग्रुप के डोनर तक की व्यवस्था भी करा देते हैं. भारत विकास परिषद की अध्यक्ष रीना ने बताया कि अगर किसी को भी खून की जरूरत हो, तो वह अस्थाना के मोबाइल नंबर 8840432899 पर कॉल करके मदद ले सकता है.

Tags: Blood Donation, Lucknow news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here