जिस खूंखार आतंकी को यूपी एटीएस ने पकड़ा, आखिर क्या थे उसके मंसूबे? टारगेट जान रह जाएंगे हैरान

0
45


हाइलाइट्स

यूपी एटीएस ने सेंट्रल एजेंसियों की सूचना पर सहारनपुर के गांव से आतंकी मुहम्मद नदीम को अरेस्ट किया है.
वह जैश-ए-मुहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान की विचारधारा से प्रभावित होकर फिदायीन हमले का प्लान तैयार कर रहा था.
संवेदनशील सूचना पर तत्काल कार्यवाही करते हुए मुहम्मद नदीम की पहचान करते हुए उससे पूछताछ की गयी.

लखनऊ. यूपी एटीएस ने सहारनपुर से जिस खूंखार आतंकी को पकड़ा है. उसका मकसद जलजला लाने का था और वह फिदायीन हमले की तैयारी कर रहा था. आतंकी 15 अगस्त को किसी सरकारी भवन या बड़ी इमारत में फिदायीन हमले का प्लान बना रहा था. उससे ठीक पहले एटीएस ने आतंकी को धर दबोचा. इसके साथ ही देश में बड़ी आतंकी साजिश का पर्दाफाश कर दिया गया. यूपी ATS के मुताबिक आतंकी मुहम्मद नदीम जैश-ए-मुहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान, पाकिस्तान (TTP) के आतंकियों से सीधे संपर्क में था. वह जैश-ए-मुहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान की विचारधारा से प्रभावित था.

आतंकी मुहम्मद नदीम के फ़ोन से पाकिस्तान एवं अफगानिस्तान के जैश-ए-मुहम्मद व टीटीपी के आतंकियों से चैट और वाइस मैसेज भी मिले हैं. आतंकी मुहम्मद नदीम ने स्वीकार किया है कि पाकिस्तानी जैश-ए-मुहम्मद के आतंकी ने उसको नूपुर शर्मा की हत्या करने का टास्क भी दिया था.

ये भी पढ़ें… जैश-ए-मुहम्मद से जुड़ा खूंखार आतंकी यूपी से गिरफ्तार, 15 अगस्त से पहले देश को दहलाने की साजिश नाकाम

कई सोशल मीडिया माध्यमों से आतंकियों से जुड़ा था आतंकी
मुहम्मद नदीम से उसके मोबाइल फ़ोन में मिले आतंकवादियों के चैट्स और फिदायीन फोर्स के एक्स्पोसिव कोर्स के संबंध में विस्तृत पूछताछ की गई. उसने बताया कि वह 2018 से जैश-ए-मुहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान-ए-पाकिस्तान के विभिन्न आतंकवादियों से वाट“सएप, टेलीग्राम, आईएमओ, फेसबुक मैसेंजर और क्लब हाउस आदि सोशल मीडिया माध्यमों से संपर्क में था. आतंकवादियों से उसने वर्चुअल नंबर बनाने का प्रशिक्षण प्राप्त किया.

30 से अधिक वर्चुअल नंबर और सोशल मीडिया आईडी बनाए थे
मुहम्मद नदीम द्वारा इन आतंकवादियों को लगभग 30 से अधिक वर्चुअल नंबर, वर्चुअल सोशल मीडिया आईडी बनाकर बनाकर उपलब्ध कराए गए. साथ ही TTP के आतंकी सैफुल्ला (पाकिस्तानी) द्वारा मुहम्मद नदीम को फिदायीन हमले के लिए तैयार करने के लिए एक्स्पोसिव कोर्स फिदाइन फोर्स का प्रशिक्षण साहित्य सोशल मीडिया के माध्यम से उपलब्ध कराया गया. जिससे वह किसी सरकारी भवन अथवा पुलिस परिसर पर फिदायीन हमला कर सके.

वीजा लेकर जाता था पाकिस्तान, लेता था आतंकवाद की स्पेशल ट्रेनिंग
मुहम्मद नदीम ने बताया गया कि उसे अफगानिस्तान व पकिस्तान में सक्रिय जैश-ए-मुहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान, पाकिस्तान के आतंकवादी स्पेशल ट्रेनिंग देने के लिए पाकिस्तान बुला रहे थे. जिस पर वह वीज़ा लेकर पाकिस्तान जाता तथा वहां पर जैश-ए-मुहम्मद की आतंकी ट्रेनिंग लेता. साथ ही वह मिस्र देश के माध्यम से सीरिया एवं अफगानिस्तान जाने की भी योजना बना रहा था. नदीम द्वारा अपने कुछ भारतीय संपर्को की भी जानकारी एटीएस को दी है. जिसपर कार्यवाही प्रारम्भ कर दी गयी है. मुहम्मद नदीम के पास से एक मोबाइल व दो सिम व प्रशिक्षण साहित्य (विभिन्न प्रकार की IED एवं बम बनाने का Fidae Force का) बरामद हुआ है.

Tags: Terrorist arrested, UP ATS, UP news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here