जेवर एयरपोर्ट: 29 करोड़ का बिका था सबसे महंगा प्लॉट, फिर लगेगी 326 प्लॉट की बोली

0
106


नोएडा. बेशक अभी जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) की जमीन का समतल करने और उसकी बाउंड्री बनाने का काम चल रहा है, लेकिन आसपास जमीनों के रेट आसमान छूने लगे हैं. 6 करोड़ की कीमत वाला प्लॉट (Plot) 14 करोड़ का तो 10 करोड़ की कीमत वाला प्लॉट 29 करोड़ का बिका था. एक बार फिर यमुना अथॉरिटी (Yamuna Authority) 326 प्लॉट लेकर आई है. यूपी रेरा (UP RERA) से रजिस्ट्रेशन नंबर मिलते ही प्लॉट आवंटन की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी. गौरतलब रहे जमीन खरीदने के लिए बोली सिस्टम होने के बाद से अथॉरिटी को ऊंचे रेट मिलने लगे हैं. पहले लाटरी सिस्टम से जमीन बेची जाती थी. लेकिन अब तय रेट से दो गुना से लेकर तीन गुना रेट पर जमीन बिक रही है. जमीन खरीदने के लिए आवेदन भी 10 से 15 गुना तक आ रहे हैं. इससे पहले भी अथॉरिटी ने दूध (Milk)-सब्जी बेचने के लिए 12 से 20 वर्गमीटर में बने कियोस्क (Kiosk) एक से डेढ़ करोड़ रुपए के बेचे थे.

326 जिडेंशियल प्लॉट के लिए लगेगी बोली

यमुना अथॉरिटी ने बोर्ड बैठक के दौरान 326 प्लॉट की रेजिडेंशियल योजना पर अपनी मुहर लगाई है. यूपी रेरा में रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन भी कर दिया गया है. नंबर मिलते ही योजना लांच कर दी जाएगी. प्लॉट का साइज 120, 182  और 200 वर्गमीटर होगा. नई योजना के तहत प्लॉट का आवंटन किया जाएगा. आवेदक को प्लॉट के लिए आनलाइन आवेदन करना होगा. इसके बाद अथॉरिटी की ओर से तय तारीख पर ई-बोली लगाई जाएगी. जिसकी बोली सबसे ऊंची होगी प्लॉट उसी को आवंटित कर दिया जाएगा.

ऐसे ऊंची कीमतों पर प्लॉट बेचे थे अथॉरिटी

7.5 हजार वर्गमीटर वाले प्लॉट के लिए रिजर्व प्राइस 6.37 करोड़ रुपये था, लेकिन बिका 14.31 करोड़ रुपए में.

10 हजार वर्गमीटर वाले प्लॉट के लिए रिजर्व प्राइस 8.55 करोड़ रुपये था, लेकिन बिका 18.01 करोड़ रुपये में.

12 हजार वर्गमीटर वाले प्लॉट के लिए रिजर्व प्राइस 9.95 करोड़ रुपए था, लेकिन बिका 29.05 करोड़ रुपए में.

NIA के निशाने पर होंगे दिल्ली-एनसीआर के यह टॉप 10 गैंग्स, जानें वजह

20 हजार वर्गमीटर वाले प्लॉट के लिए रिजर्व प्राइस 15.53 करोड़ रुपए था, लेकिन बिका 26.61 करोड़ रुपये में.

20 हजार वर्गमीटर वाले प्लॉट के लिए रिजर्व प्राइस 15.53 करोड़ रुपये था, लेकिन बिका 26.29 करोड़ में.

20 हजार वर्गमीटर वाले प्लॉट के लिए रिजर्व प्राइस 15.53 करोड़ रुपये था, लेकिन बिका 26.68 करोड़ में.

यमुना अथॉरिटी अब इन नए रेट पर बेच रही है जमीन

यमुना अथॉरिटी से जुड़े अफसरों की मानें तो रेजिडेंशियल प्लॉट के रेट अभी 17400 रुपए प्रति वर्गमीटर थे जो अब बढ़कर 18510 रुपए हो गए हैं. इसी तरह से ग्रुप हाउसिंग 18200 रुपए से बढ़कर 23140 रुपए हो गए हैं. वहीं इंस्टीट्यूशन 8270 से 10450 रुपये. कॉरपोरेट आफिस 12300 से 16970 रुपये, आईटी 8430 से 11630 रुपये और इंडस्ट्रियल प्लॉट के रेट 7010 से बढ़कर 9668 रुपये प्रति वर्ग मीटर हो गए हैं.

यमुना अथॉरिटी ने इसलिए बढ़ाए जमीन के रेट

यमुना अथॉरिटी के लिए यह भी एक बड़ा मौका था जब लॉकडाउन में उसने जमीन बेचकर रिकॉर्ड रेवेन्यू कमाया और अपने ऊपर एक हजार करोड़ रुपए का कर्ज उतार दिया. यह वो वक्त था जब बड़ी से बड़ी इंडस्ट्री पर भी ताला लगा हआ था. लेकिन अथॉरिटी ऑनलाइन आवंटन कर जमीन बेच रही थी. जेवर एयरपोर्ट, फिल्म सिटी और यमुना एक्सप्रेसवे के नजदीक जमीन खरीदने की चाहत में लोग लॉकडाउन के दौरान भी यमुना अथॉरिटी में ऑनलाइन आवेदन जमा कर रहे थे. जमीन की इसी डिमांड के भरोसे अथॉरिटी के अफसरों ने दावा किया है कि आने वाले दो साल में वो अथॉरिटी को कर्ज मुक्त कर देंगे.

Tags: Industrial plot plan noida, Jewar airport, Yamuna Authority



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here