झांसी का ऐतिहासिक महाकाली मंदिर, जहां राजनेता करवाने आते हैं अनुष्ठान

0
36


झांसी:-चैत्र नवरात्रि की शुरुआत के साथ मंदिरों को सजाने,संवारने का काम भी शुरू हो गया है.झांसी के तमाम मंदिरों को नवरात्रि के लिए तैयार किया जा रहा है.इन्हीं में से एक मंदिर है झांसी का महाकाली मंदिर.महाकाली मंदिर देश के शक्तिपीठों में से एक है.आध्यात्मिक के साथ ही इस मंदिर का ऐतिहासिक और राजनीतिक महत्व भी रहा है.इस मंदिर का निर्माण 1687 में ओरछा के महाराजा वीर सिंह जूदेव ने कराया था.कहा जाता है कि, जब वह झांसी के जंगलों में अपने सैनिकों के साथ शिकार खेलने के लिए निकले थे, तो वहां उन्हें तालाब के पास एक पहाड़ पर गुफा दिखाई दी.उस गुफा में ही महाकाली का यह रूप उन्होंने पहली बार देखा था.

इंदिरा गांधी ने करवाया था अनुष्ठान
महाकाली के इस मंदिर में सिर्फ आम लोगों की ही नहीं बल्कि राजनीतिक लोगों की भी खासा आस्था रहती है.बड़े राजनेता जैसे एन.डी. तिवारी, राजनाथ सिंह, उमा भारती सरीखे नेता इस मंदिर में माता के दर्शन करने प्रायः आते रहते हैं.भूतपूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गांधी ने भी यहां अनुष्ठान करवाया था.मंदिर के मुख्य पुजारी अजय त्रिवेदी बताते हैं कि 1977 के चुनाव में करारी हार के बाद फरवरी 1978 में इंदिरा गांधी ने यहां धार्मिक अनुष्ठान करवाया था.उस समय महंत प्रेम नारायण त्रिवेदी ने उनका अनुष्ठान करवाया था.1980 का चुनाव जीतने के बाद इंदिरा गांधी एक बार फिर मंदिर में पूजा करने के लिए आई थीं.

लोगों की है अटूट आस्था
इस मंदिर में झांसी के लोगों की अटूट आस्था है.नवरात्रि के 9 दिनों के अलावा भी साल भर यहां भक्तों की भीड़ लगी रहती है.नवरात्रि के दिनों में यहां मेले का आयोजन किया जाता है.

(रिपोर्ट – शाश्वत सिंह)

आपके शहर से (झांसी)

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश

Tags: Jhansi news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here