झारखंड में कोरोना संक्रमितों की संख्या 76 हजार पार, 24 घंटे में 4 लोगों की मौत

0
5


झारखंड में कोरोना मोर्टेलिटी रेट 0.85% है. (File)

झारखंड में कोरोना (COVID-19) का रिकवरी रेट राष्ट्रीय औसत से बेहतर होकर 82.34% हो गया है. पिछले 24 घंटे में राज्य में कोरोना से 1386 लोग ठीक हुए है.

रांची.  झारखंड में कोरोना (Coronavirus) का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. पिछले 24 घंटे में कोरोना से 4 लोगों की मौत हो गई है. साथ ही राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़कर 652 हो गई है. गुरुवार को पूर्वी सिंहभूम में 03 और रामगढ़ में 01 कोरोना संक्रमित (COVID-19) की इलाज के दौरान मौत हो गई. वहीं राज्य में कोरोना के 1349 नए केस मिलने के साथ ही कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 76, 438 हो गई है, जबकि अभी भी राज्य में कोरोना के 12841 एक्टिव केस हैं.

झारखंड में कोरोना का ग्रोथ रेट कम हुआ है और यह 1.88% है. बावजूद इसके नए संक्रमितों की संख्या काफी ज्यादा इसलिए है क्योंकि बड़ी संख्या में हर दिन कोरोना जांच हो रहा है. गुरुवार को 23482 लोगों के कोरोना सैम्पल की जांच हुई जिसमें 1349 पॉजिटिव मिले. अब राज्य में कोरोना संक्रमित की कुल संख्या 76 हजार 438 हो गई है. वहीं 12 हजार 841 एक्टिव केस हैं. गुरुवार को सबसे ज्यादा 362 पॉजिटिव रांची में, 123 पूर्वी सिंहभूम में और 112 गढ़वा में मिले हैं.

1386 संक्रमित हुए कोरोना मुक्त

झारखंड में कोरोना का रिकवरी रेट राष्ट्रीय औसत से बेहतर होकर 82.34% हो गया है.  पिछले 24 घंटे में राज्य में कोरोना से 1386 लोग ठीक हुए है. अब राज्य में कोरोना को हराने वालों की संख्या बढ़कर 62 हजार 945 हो गई है. गुरुवार को सबसे ज्यादा 264 कोरोना संक्रमित कोडरमा में ठीक हुए, जबकि रांची में 229 और सरायकेला में 157 कोरोना संक्रमित की रिपोर्ट नेगेटिव आई.ये भी पढ़ें:  जौनपुर: समय पर नहीं मिली एंबुलेंस, बेटी के शव से घंटों लिपट कर रोता रहा पिता
इनके लिए जानलेवा साबित हो रहा है कोरोना

ये भी पढ़े  पत्नी को MP में एग्जाम दिलाने स्कूटर से किया था 1200 Km का सफर, हवाई जहाज से लौटेंगे झारखंड

झारखंड में कोरोना मोर्टेलिटी रेट(0.85%)  राष्ट्रीय औसत मोर्टेलिटी रेट (1.60%) से कम है. बावजूद इसके राज्य में जो 652 मौतें हुई है उसमें से 648 का डेटा स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया है जिसके अनुसार राज्य में 51 वर्ष से 70 वर्ष के बीच वाले लोगों के लिए कोरोना सबसे ज्यादा जानलेवा साबित हो रहा है. अकेले 320 यानी कुल मौत का 49.38% मौत इसी समूह का हुआ है. इसके बाद 70 वर्ष आयु के ऊपर वाले 163 (25.15%), 31 वर्ष से 50 वर्ष के बीच की आयु वाले 134 ( 20.64%) ,11वर्ष से 30 वर्ष की आयु वाले 28(04.32%) और 10 वर्ष से नीचे के 03(0.46%) कोरोना संक्रमित की इलाज के दौरान मौत हुई है .

रिम्स मेडिसिन हेड डॉ. जेके मित्रा की स्थिति गंभीर

रिम्स में भर्ती कोरोना पॉजिटिव रिम्स अधीक्षक डॉ. विवेक कश्यप और मेडिका में भर्ती रांची के सिविल सर्जन डॉ. विजय बिहारी प्रसाद की स्थिति में सुधार हुआ है. वहीं रिम्स मेडिसिन विभाग के HOD और प्रख्यात फिजिशियन डॉ. जेके मित्रा की स्थिति गंभीर है. उन्हें ट्रामा सेंटर के ICU में हाई फ्लो ऑक्सीजन पर रखा गया है.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here