टोक्यो ओलंपिक के लिए चुनी गई 29 खिलाड़ियों की शरणार्थी टीम

0
10


टोक्यो ओलिंपिक का आयोजन 23 जुलाई से 8 अगस्त तक होना है (AFP)

टोक्यो ओलंपिक के लिए चुनी गयी शरणार्थी टीम में 29 खिलाड़ी हैं, जो 12 खेलों में चुनौती पेश करेंगे.

लुसाने. टोक्यो ओलंपिक के लिए चुनी गयी शरणार्थी टीम में 29 खिलाड़ी हैं, जो 12 खेलों में चुनौती पेश करेंगे. अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) ने मंगलवार को 55 खिलाड़ियों में से इन 29 खिलाड़ियो के दल को चुना है. इन खिलाड़ियों ने अपने मूल देश को छोड़ दिया है और इन्हें अभ्यास के लिए नये देश में छात्रवृत्ति मिल रही है.

रियो में 2016 में हुए पिछले ओलंपिक में शरणार्थी टीम में 19 खिलाड़ियों को मौका मिला था. इस बार चुने हुए 29 खिलाड़ी मूल रूप से अफगानिस्तान, कैमरून, कांगो, कांगो गणराज्य, इरिट्रिया, ईरान, इराक, दक्षिण सूडान, सूडान, सीरिया और वेनेजुएला से हैं. ये खिलाड़ी तैराकी, एथलेटिक्स, बैडमिंटन, मुक्केबाजी, नौकायन साइकिलिंग, जूडो, कराटे, निशानेबाजी, ताइक्वांडो, भारोत्तोलन और कुश्ती में भाग लेंगे.

आईओसी अध्यक्ष थॉमस बाक ने कहा, ‘‘आप हमारे ओलंपिक समुदाय का अभिन्न हिस्सा है और हम खुले दिल से आपका स्वागत करते हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ आप दुनिया को एकजुटता, जुझारूपन और उम्मीद का शक्तिशाली संदेश भेजें.’’

इस टीम का प्रबंधन टोक्यो में आईओसी और संयुक्त राष्ट्र की जिनेवा स्थित शरणार्थी एजेंसी (यूएनएससीआर) के अधिकारियों द्वारा किया जाएगा. बता दें कि टोक्यो ओलंपिक की शुरुआत 23 जुलाई से होनी है. लेकिन कोरोना (Covid-19) के कारण इस बार गेम्स में बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे. टोक्यो को जब गेम्स की मेजबानी सौंपी गई थी तब उसने स्वयं को सुरक्षित स्थल के रूप में पेश किया था, जबकि इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी (IOC) के तत्कालीन उपाध्यक्ष क्रेग रीडी ने ब्यूनस आयर्स में 2013 में वोटिंग के बाद कहा था कि निश्चित रूप से यह अहम मुद्दा होगी.गेम्स पिछले साल ही होने थे, लेकिन कोरोना के कारण इसे एक साल के लिए टाल दिया गया था. कोविड-19 के बढ़ते मामलों और जापान में खेलों के आयोजन को लेकर जनता के विरोध के बावजूद आयोजक और आईओसी गेम्स के आयोजन पर जोर दे रहे हैं. इस बार विदेशी फैंस के आने पर रोक लग सकती है. उत्तर कोरिया की टीम पहले ही खिलाड़ियों की सुरक्षा को देखते हुए गेम्स के हट चुकी है.



<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here