डोपिंग करने में बेटे की मदद की, तीन बार के ओलिंपियन को मिली 10 साल की ‘सजा’

0
12


ओलिंपिक साइकिलिस्ट जोहान लीनहार्ट को 10 साल के लिए प्रतिबंधित किया गया. (सांकेतिक फोटो)

डोपिंग रोधी विधि समिति ने कहा कि दिग्‍गज ओलिंपियन ने अपने बेटे को दिसंबर 2018 से मार्च 2019 के बीच ईपीओ, जेनोट्रोपीन और टेस्टोस्टेरोन मुहैया कराए थे.

विएना. खेल जगत में डोपिंग सबसे बड़े अपराध में से एक है. युवा खिलाड़ियों को डोपिंग की गंभीरता समझाने के लिए अक्‍सर जागरूकता वाले कार्यक्रम चलाए जाते हैं. मगर हाल ही में एक ऐसा मामला आया है, जहां तीन बार के ओलिंपियन पिता ने खेल जगत में उभरते अपने बेटे को ही इस दलदल में धकेलने में मदद की.

तीन बार के ओलिंपिक साइकिलिस्ट जोहान लीनहार्ट (johann lienhart) को अपने बेटे को गैरकानूनी शक्तिवर्धक पदार्थ मुहैया कराने के लिए 10 साल के लिए प्रतिबंधित किया गया है. लीनहार्ट का बेटा पेशेवर ट्रायथलीट है. ऑस्ट्रिया की डोपिंग रोधी विधि समिति ने मंगलवार को कहा कि 60 साल के लीनहार्ट ने अपने बेटे को दिसंबर 2018 से मार्च 2019 के बीच ईपीओ, जेनोट्रोपीन और टेस्टोस्टेरोन मुहैया कराए.

बेटे पर 4 साल का प्रतिबंध
समिति ने साथ ही कहा कि लीनहार्ट (johann lienhart) ने अपने बेटे को डोपिंग के लिए प्रोत्साहित किया, निर्देश दिए और समर्थन किया. लीनहार्ट का बेटा फ्लोरियन दो बार का ऑस्ट्रियाई राष्ट्रीय ट्रायथलन चैंपियन हैं और उन्‍हें डोपिंग करते हुए पकड़ा गया था. फ्लोरियन को 2019 में अस्थायी तौर पर निलंबित किया गया.यह भी पढ़ें: –
स्विमसूट पहनने पर फैंस ने किया था ट्रोल, पूर्व वर्ल्ड नंबर वन खिलाड़ी ने दिया करारा जवाब
इंस्‍टाग्राम पर सबसे ज्‍यादा फॉलोअर्स वाले पहले भारतीय बने विराट कोहली, दूसरे नंबर पर प्रियंका चोपड़ा

बाद में उन पर चार साल का प्रतिबंध लगाया गया. लीनहार्ट  (johann lienhart) 1980 के दशक में ऑस्ट्रिया के शीर्ष साइकिलिस्टों में से एक थे और उन्होंने 1980, 1984 और 1988 के तीन ओलिंपिक में हिस्सा लिया. उन्‍होंने 1983 में नेशनल रोड चैंपियनशिप का खिताब भी जीता था.


<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here