दामाद ही निकला जल्लाद! 60 साल की सास व सौतेली बेटी की हत्या की गुत्थी सुलझी; यह थी वजह

0
49


मेरठ: उत्तर प्रदेश में मेरठ के नौचंदी थानाक्षेत्र में हुए डबल मर्डर केस का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. 60 साल की महिला और बारह साल की उसकी नातिन को पड़ोसी और सौतेले पिता ने ही मौत के घाट उतार दिया. एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि घर में रखी ज्वेलरी और लाखों रुपए नकद लूटने के लिए इस घटना को अंजाम दिया गया था. लूटी गई चालीस लाख रुपए की नकदी बरामद हो गई है. पचास लाख की ज्वेलरी भी पुलिस ने बरामद कर ली है. घटना में शामिल चार अभियुक्त गिरफ्तार कर लिए गए हैं. मर्डर में इस्तेमाल हथियार भी बरामद कर लिया गया है. एसएसपी ने बताया कि सौतेले पिता और पड़ोसी ने मिलकर वारदात को अंजाम दिया था. एसएसपी ने बताया कि चारों आरोपी अवैध ड्रग्स बेचने के भी आरोपी हैं.

दरअसल, थाना नौचन्दी पुलिस, क्राइम ब्रान्च, सर्विलांस व स्वॉट टीम ने मिलकर शास्त्रीनगर मेरठ में लूट सहित दोहरे सनसनीखेज हत्याकांड का पर्दाफाश कर दिया है. गौरतलब है कि वादी नवीन कुमार ने थाना नौचन्दी पर तहरीर दी थी कि अज्ञात लोगों ने उनकी माता कौशल (60) व भांजी तमन्ना (12) की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी और घर से सामान लूटकर ले जाया गया था. इस सम्बन्ध में नौचन्दी पुलिस इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस, मैनुअल इंटेलिजेंस बयान व पूछताछ भौतिक व परिस्थितिजन्य साक्ष्य एवं अन्य संकलित किये. साक्ष्यों के आधार पर हत्या की घटना का खुलासा करते हुए उक्त घटना को अंजाम देने वाले 4 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया है.

बताया गया कि साल 2018 में ईशु नाम के आरोपी ने स्नेहा से शादी की थी. स्नेहा की यह उसकी दूसरी शादी थी, क्योंकि स्नेहा के पहले पति की मृत्यु हो गयी थी. स्नेहा के पहले पति से उसे एक बेटी है, मगर शादी के दौरान स्नेहा ने ईशू और उसके परिवार को यह बात नहीं बताई. ईशु का आरोप है कि परिवार वालों व रिश्तेदारों को आज तक भी यह जानकारी नहीं है कि स्नेहा की पहले पति से भी कोई संतान है. स्नेहा की यह बेटी तमन्ना उर्फ कुट्टू अपनी नानी के पास शास्त्रीनगर में ही रहती थी. स्नेहा के पहले पति के हिस्से की सम्पत्ति भी स्नेहा के पिता ने तमन्ना के नाम करा दी थी और अपने मरने से कुछ दिन पहले ही उन्होंने अपनी मकान व पैसे तमन्ना के नाम करा दिये थे.

तमन्ना बचपन से ही अपने नाना-नानी के साथ रह रही थी, जिसके कारण उसका लगाव उन्हीं से अधिक था. अभियुक्त ने बताया कि उसकी भी एक 08 माह की बेटी है, लेकिन स्नेहा का ध्यान हमेशा अपनी पहली बेटी तमन्ना पर ही रहता था और अपनी छोटी बच्ची पर कम ध्यान देती थी. उसे यह बात अंदर ही अंदर खलती रहती थी. उसने अपने ससुर के मरने के बाद अपने दोस्त रिंकू, दीपक और विशान्त ने मिलकर तमन्ना और सास कौशल को रास्ते से हटाने की योजना बनाई.

अभियुक्त ने बताया कि उसने सोचा कि तमन्नाऔर सास कौशल के मरने से उसके हिस्से की सम्पत्ति मिल जायेगी और पत्नी का ध्यान उधर से हटकर अपने परिवार व बच्ची पर आ जायेगा. इस काम के लिए उसने अपने साथी रिंकू, विशान्त व दीपक को एक-एक लाख रुपये देने का वादा भी किया था क्योंकि उसे पता था कि सास के घर में करीब 40-50 लाख रुपये व ज्वेलरी रखी हुई है. इसके बाद सात तारीख को इन्होंने बच्ची तमन्ना और उसकी नानी की हत्या कर दी.

Tags: Crime News, Meerut news, Uttar pradesh news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here