दिल्ली सरकार ने की Oxygen Express ट्रेन की मांग, रेलवे ने कहा ट्रक तैयार रखिए

0
38


दिल्ली सरकार के अनुरोध पर रेलवे ने तत्काल मदद देने की बात कही है. (सांकेतिक फोटो)

रेलवे बोर्ड के चेयरमेन ने बताया कि दिल्ली सरकार की ऑक्सीजन सप्लाई करने की रिक्वेस्ट उन्हें अभी मिली है और वे इसके लिए जल्द इंतजाम कर रहे हैं.

नई दिल्ली. कोरोना के मरीजों के लिए ऑक्सीजन की कमी से जूझते दिल्ली के अस्पतालों को संकट से निकालने और मरीजों की जान बचाने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है. इसी के तहत दिल्ली सरकार ने रेलवे से ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन भेजने की मांग की थी. इसके बाद रेलवे बोर्ड के चेयरमेन ने बताया कि हमें अभी उनकी ये मांग मिली है और हमने उन्हें ऑक्सीजन को ले जाने वाले ट्रक तैयार करने के लिए कहा है. हम जल्द से जल्द आपूर्ति करने की कोशिश करेंगे. रेलवे बोर्ड के चेयरमैन ने जानकारी दी कि दिल्ली की ऑक्सीजन की आपूर्ति राउरकेला, आंध्रप्रदेश के अंगुल और ओडिशा से पूरी होने की कोशिश है. साथ ही उन्होंने बताया कि हर ऑक्सीजन एक्सप्रेस में 16 टन ऑक्सीजन आ सकती है.

दिल्ली के ऑक्सीजन सप्लाई का हाल खराब है. यहां पर कुछ अस्पताल तो ऐसे हैं जहां पर ऑक्सीजन खत्म हो चुकी है या कुछ घंटों की बाकि है. ऐसे में कोरोना मरीजों के साथ ही अन्य गंभीर बीमारियों से जूझ रहे मरीजों की जान खतरे में है. डॉक्टर और अस्पताल प्रशासन किसी तरह से मरीजों को ऑक्सीजन देकर उनकी जान बचाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं.

गौरतलब है कि दिल्ली में कोरोना संक्रमण के चलते हालात खराब होते जा रहे हैं. सर गंगाराम अस्‍पताल में 24 घंटों में 25 मरीजों की मौत हो चुकी है और 60 गंभीर रूप से बीमार लोगों की जान खतरे में है. अस्‍पताल की ओर से भेजे गए संदेश में ऑक्‍सीजन की तत्‍काल जरूरत बताई गई थी. हॉस्पिटल में महज कुछ घंटों तक के लिए ही ऑक्‍सीजन बची थी. अस्‍पताल का कहना था कि वेंटिलेटर और बाइलेवल पॉजिटिव एयरवे प्रेशर प्रभावी तरीके से काम नहीं कर रहा है. आईसीयू और ईडी में मैन्‍युअल तरीके से वेंटिलेशन किया जा रहा है.

इसके बाद दिल्ली के ऑक्सीजन टैंकर सर गंगाराम अस्पताल में पहुंच गया था. यह टैंकर भारी सुरक्षा के बीच पहुंचा गया था. वहीं, ऑक्सीजन टैंकर पहुंचते ही तामीरदार और अस्पताल प्रशासन ने चैन की सांस ली.



<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here