दिल्‍ली-सहारनपुर हाईवे का काम चार माह बाद दोबारा शुरू, इसलिए बंद हुआ था काम

0
33


गाजियाबाद. दिल्ली-सहारनपुर हाईवे (Delhi Saharanpur highway) का काम चार माह दोबारा से शुरू हो गया है. पूर्व में निर्माण कंपनी काफी धीमे काम कर रही थी, इसलिए एनएचएआई (NHAI) ने टेंडर रद्द कर दोबारा से नई कंपनी को टेंडर दिया है. नई कंपनी ने काम शुरू कर दिया है. हाईवे (highway) को पूरा करने का लक्ष्‍य 2024 रखा गया है, एनएचएआई हर हाल में निर्धारित समय में काम पूरा कराने की तैयारी में है.

एनएचएआई के प्रोजेक्‍ट डायरेक्‍ट अरविंद कुमार ने बताया कि पहले चरण का टेंडर हैदराबाद की कंपनी को दिया था. कंपनी ने निर्माण शुरू जरूर किया, लेकिन वह दिसंबर 21 तक केवल दस प्रतिशत काम भी नहीं कर सकी. इसलिए एनएचएआई ने कंपनी का टेंडर रद्द करने के लिए नोटिस जारी कर दिया था. टेंडर रद्द होने के बाद दोबारा से टेंडर जारी किए और नई कंपनी को निर्माण काम सौंपा है. नई कंपनी ने काम शुरू कर दिया है.

चार हिस्‍सों में हो रहा है काम

दिल्‍ली से सहारनुपर हाईवे का काम चार हिस्‍सों में किया जा रहा है. इसमें बागपत से सहारनपुर तक का काम दो हिस्‍सों में और अक्षरधाम से ईपीई खेकड़ा तक का काम दो हिस्‍सों में हो रहा है. बागपत से सहारनपुर तक काम करीब दो साल पहले शुरू हो चुका है. अक्षरधाम से होकर गीता कॉलोनी, शास्त्रीपार्क, खजूरी खास होते हुए यूपी बॉर्डर तक 14.75 किमी. का काम है. वहीं, दूसरे पैकेज में यूपी बॉर्डर से मंडोला होते हुए ईपीई जंक्शन, खेकड़ा तक 16.45 किमी. का काम है. हाईवे बनने से नोएडा और पूर्वी दिल्‍ली की ओर से बागपत की ओर जाने वालों को राहत मिलेगी.

एलिवेटेड होगा 17 किमी.

पहले हिस्‍से में अक्षरधाम से यूपी बॉर्डर तक 17 किलोमीटर हिस्सा एलिवेटेड होगा, जो गीता कॉलोनी से शास्त्री पार्क, खजूरी खास, यूपी बॉर्डर होते हुए मंडोली तक बनेगा. जीटी रोड पर यह हाईवे शास्त्री पार्क में बने नए फ्लाईओवर के ऊपर से जाएगा, वहां से फ्लाईओवर से लूप के जरिए जोड़ा जाएगा, ताकि फ्लाईओवर से वाहन सहारनपुर जाने के लिए आसानी से ला सकें. वहीं, दूसरे पैकेज में 14 किमी. यूपी बॉर्डर से ईपीई जंक्‍शन बागपत तक हाईवे बनाया जाएगा.

Tags: Highway, NHAI, Road and Transport Ministry



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here