दीदी हैं बंगाल की ‘दादा’ लेकिन नंदीग्राम की लड़ाई में शुवेंदु अधिकारी ने ममता को दी मात

0
20


नंदीग्राम में ममता को अपने ही पूर्व सहयोगी से हार का सामना करना पड़ा. फाइल फोटो

Nandigram Election Result 2021: चुनाव आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक बीजेपी के शुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) ने ममता बनर्जी को 1956 वोटों से हरा दिया.

नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल की चुनावी लड़ाई में टीएमसी सुप्रीमो (TMC) ने बीजेपी को धूल चटा दिया है, लेकिन नंदीग्राम की बिसात पर ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) को हार का सामना करना पड़ा है. देर रात चुनाव आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक बीजेपी के शुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) ने ममता बनर्जी को 1956 वोटों से हरा दिया. अधिकारी को कुल 1,107,64 वोट मिले, जबकि ममता बनर्जी को 1,08,808 वोट मिला. इसी सीट पर सीपीआईएम की उम्मीदवार मीनाक्षी मुखर्जी को कुल 6,267 वोट मिले. हालांकि नंदीग्राम के चुनावी परिणाम पर तृणमूल कांग्रेस ने पुन: मतगणना की मांग करते हुए मतों की गिनती में कई अनियमितताओं का आरोप लगाया. लेकिन चुनाव आयोग ने उनकी दलीलों को खारिज कर दिया. इससे पहले टीएमसी को रुझानों में स्पष्ट बहुमत मिलने के बाद ममता बनर्जी ने बंगाल की जनता को संबोधित करते हुए कहा कि अब उनका फोकस कोरोना महामारी से लड़ने पर होगा. ममता ने कहा कि नंदीग्राम का परिणाम चाहे जो हो, टीएमसी ने बंगाल चुनाव जीत लिया है और ये बंगाल के लोगों की जीत है. बनर्जी अब तीसरी बार मुख्यमंत्री बनने के करीब हैं. उन्होंने अपने समर्थकों से जश्न न मनाने को कहा.

Youtube Video

बता दें की टीएमसी की जीत के साथ बीजेपी की राज्य की सत्ता में काबिज होने की आकांक्षा अधूरी रह गई. बीजेपी के लिए यह 2019 के लोकसभा चुनाव परिणाम के विपरीत है, जब इसने 18 लोकसभा सीट जीतकर 120 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में बहुमत हासिल किया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के लिए यह चुनाव प्रतिष्ठा का प्रश्न था और उन्होंने बीजेपी को जीत दिलाने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी. पार्टी ने 200 से अधिक सीट जीतने का दावा किया था, लेकिन वह इस आंकड़े के कहीं आसपास तक भी नहीं पहुंच पाई और इससे काफी दूर रह गई.बीजेपी ने विधानसभा चुनाव में अपने कई सांसदों एवं केंद्रीय मंत्रियों को भी उतार दिया था. प्रधानमंत्री अपनी प्रचार सभाओं में बनर्जी पर निशाना साधते समय प्राय: ‘दीदी ओ दीदी’ कहते थे, लेकिन उनकी यह कटाक्ष शैली भी बनर्जी को शिकस्त देने में योगदान नहीं दे पाई. पश्चिम बंगाल में 34 साल तक शासन करनेवाला वाम मोर्चा और राज्य में दो दशक तक सत्ता में रही कांग्रेस इस विधानसभा चुनाव में बिलकुल औंधे मुंह जा गिरी है. बहुत से लोग अब ये कयास लगाने लगे हैं कि अपनी पार्टी की इस बार की जीत से उत्साहित बनर्जी अब 2024 के आम चुनाव में बीजेपी को चुनौती देने के लिए अन्य राष्ट्रीय और क्षेत्रीय दलों को एकजुट करने की कोशिश करेंगी. इस बीच, शुवेंदु अधिकारी ने ट्वीट कर नंदीग्राम के लोगों का आभार प्रकट किया.

दीदी हैं बंगाल की 'दादा' लेकिन नंदीग्राम की लड़ाई में शुवेंदु अधिकारी ने ममता को दी मात

अधिकारी ने लिखा, ”प्यार, विश्वास, आशीर्वाद और समर्थन प्रदान करने और मुझे अपना प्रतिनिधि चुनने के लिये नंदीग्राम की जनता का आभार. मैं उनकी सेवा करने और उनके कल्याण के लिये काम करते रहने का वादा करता हूं. मैं आपका आभारी हूं.”









Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here