निशानेबाजी विश्व कप में भारत का शानदार प्रदर्शन जारी, लेकिन नहीं मिला 16वां ओलंपिक कोटा

0
123


संजीव राजपूत और तेजस्विनी सावंत ने 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशंस मिश्रित टीम इवेंट में गोल्ड मेडल जीता (Sai Media/Twitter)

भारत 12 गोल्ड, सात सिल्वर और छह ब्रॉन्ज मेडल से 25 मेडलों के साथ तालिका में शीर्ष पर है. भारत के अनुभवी निशानेबाजों संजीव राजपूत और तेजस्विनी सावंत ने आईएसएसएफ विश्व कप में शुक्रवार को 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशंस मिश्रित टीम इवेंट में गोल्ड मेडल जीता.

नई दिल्ली. भारतीय निशानेबाजों ने अंतरराष्ट्रीय निशानेबाजी खेल संघ (आईएसएसएफ) विश्व कप में अपना दबदबा बरकरार रखते हुए शुक्रवार को दो और गोल्ड मेडल हासिल किए, लेकिन उसे अब भी ओलंपिक के लिए 16वें कोटे का इंतजार है. भारत 12 गोल्ड, सात सिल्वर और छह ब्रॉन्ज मेडल से 25 मेडलों के साथ तालिका में शीर्ष पर है. भारत के अनुभवी निशानेबाजों संजीव राजपूत और तेजस्विनी सावंत ने आईएसएसएफ विश्व कप में शुक्रवार को 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशंस मिश्रित टीम इवेंट में गोल्ड मेडल जीता.

भारतीय जोड़ी ने उक्रेन के सेरही कुलीश और अन्ना इलिना को 31- 29 से हराया. यह भारत का 11वां गोल्ड मेडल था. ऐश्वर्य प्रताप सिंह तोमर और सुनिधि चौहान ने ब्रॉन्ज मेडल जीता. उन्होंने अमेरिका के तिमोथी शेरी और वर्जिनिया थ्रेशर को 31 – 15 से मात दी. इसके बाद स्वप्निल कुसाले, चैन सिंह और नीरज कुमार की भारतीय तिकड़ी ने 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशंन में पुरुष टीम के फाइनल में अमेरिका को 47-25 से हराकर गोल्ड मेडल जीता.

विजयवीर सिंधू ने 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल इवेंट में सिल्वर मेडल जीता. ओलंपिक कोटा सिर्फ गोल्ड मेडल विजेताओं को मिल रहा है. एस्तोनिया के पीटर ओलेस्क को गोल्ड मेडल मिला. दोनों 40 शॉट के फाइनल में 26 निशाने लगाकर बराबरी पर थे. शूटआउट में पीटर ने पांच में से चार निशाने लगाये जबकि 18 साल के विजयवीर ही निशाना लगा सके. पुरुष और महिला ट्रैप में सिर्फ एक भारतीय के कायनान चेनाई ही फाइनल में पहुंच सके लेकिन वह उपकरण में खराबी के बाद चौथे स्थान पर रहे, जिससे ओलंपिक कोटा हासिल करने की उनकी उम्मीदों को धक्का लगा.

इससे पहले महिलाओं की ट्रैप इवेंट के राष्ट्रमंडल खेलों की गोल्ड मेडल विजेता श्रेयसी सिंह क्वालीफिकेशन में 10वें, मनीषा कीर 12वें और राजेश्वरी कुमारी 13वें स्थान पर रही तो वही पुरुषों में भारत के पृथ्वीराज तोंदाइमन पुरूषों के क्वॉलिफिकेशन में सातवें जबकि लक्ष्य 17वें स्थान पर रहे. रैपिड फायर पिस्टल निशानेबाजी में अनीश भानवाला और गुरप्रीत सिंह भी रैंकिंग के आधार पर ओलंपिक कोटा हासिल करने नाकाम रहे. अनीश पांचवें और गुरप्रीत छठे स्थान पर रहे.इससे पहले दिन में राजपूत और सावंत एक समय 1-3 से पीछे थे, लेकिन फिर 5-3 से बढ़त बना ली. इसके बाद भी विरोधी टीम ने वापसी का प्रयास किया लेकिन भारतीय जोड़ी ने उन्हें कामयाब नहीं होने दिया. क्वॉलिफिकेशन में राजपूत और सावंत 588 अंक लेकर शीर्ष पर रहे थे. दोनों ने 294 अंक बनााये. तोमर और चौहान 580 अंक लेकर चौथे स्थान पर रहे थे और ब्रॉन्ज मेडल का मुकाबला खेला. एस्तोनिया के पीटर ओलेस्क ने शूटआउट में विजयवीर को पछाड़कर गोल्ड मेडल मिला. दोनों 40 शॉट के फाइनल में 26 निशाने लगाकर बराबरी पर थे.

इसमें अन्य भारतीय निशानेबाजों में अनीश भानवाला और गुरप्रीत सिंह पांचवें और छठे स्थान पर रहे जबकि पोलैंड के ओेस्कर मिलिवेक को ब्रॉन्ज मेडल मिला. 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशंन में कुसाले, चैन और नीरज ने अमेरिका के निकोलस मोवरर, टिमोथी शेरी और पैट्रिक सुंदरमन को यहां डा. कर्णी सिंह निशानेबाजी परिसर में आसानी से हराकर इस टूर्नामेंट का 12वां गोल्ड मेडल जीता. भारतीय टीम को फाइनल में गुरूवार को हंगरी का सामना करना था लेकिन अपने स्टार निशानेबाज पीटर सिडी से जुड़े विवाद के कारण हंगरी के हट जाने से उसे क्वालीफिकेशन में तीसरे स्थान पर काबिज अमेरिका के खिलाफ खेलना पड़ा.

बुधवार को क्वॉलिफिकेशन में 875 अंक के साथ भारतीय टीम पहले स्थान पर थी जबकि इस्तवान पेनी, जावान पेकलर और सिडी की हंगरी की टीम दूसरे स्थान पर थी. पुरुषों के ट्रैप इवेंट में इटली के डेनियल रेस्का (46 अंक) ने फाइनल में स्पेन के अल्बर्टो फर्नांडीज (45 अंक) को पीछे छोडकर गोल्ड मेडल हासिल किया. इटली के हीवेलेरियो ग्राजिनी ने ब्रॉन्ज मेडल हासिल किया. महिलाओं में स्लोवाकिया की जुजाना रेहाक स्टेफेसेकोवा ने शूटऑफ (5-4) में पोलैंड की सैंड्रा बर्नेल और इटली की फियामेटा रोसी को हराकर पीला तमगा हासिल किया.



<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here