नोएडा के साइलेंट जोन में ही हो रहा सबसे ज्यादा ध्वनि प्रदूषण, जानें वजह

0
36


नोएडा. उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (UPPCB) की नोएडा के मामले में एक खासी चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आई है. रिपोर्ट के मुताबिक नोएडा में जहां सबसे कम ध्वनि प्रदूषण (Noise Pollution) होना चाहिए वहीं पर सबसे ज्यादा प्रदूषण हो रहा है. यह वो इलाके हैं जो साइलेंट जोन घोषित हैं. यह वो इलाके हैं जहां स्कूल-कॉलेज (School-College) और अस्पताल हैं. रिपोर्ट में सामने आया है कि साइलेंट जोन (Silent Zone) में तय मानक से 20 डेसिबल तक ज्यादा शोरगुल हो रहा है. और यह तब है जब नोएडा में ध्वनि प्रदूषण रोकने के लिए अभियान चलाया जा रहा है. ध्वनि प्रदूषण की सबसे बड़ी वजह बाइक-कार (Bike-Car) और बड़े वाहन बताए जा रहे हैं.

 इंडस्ट्रियल इलाका सामान्य और साइलेंट जोन में प्रदूषण

यूपीपीसीबी की फरवरी की रिपोर्ट के मुताबिक जिले के साइलेंट जोन (स्कूल-कॉलेज और अस्पताल के आसपास 66.8 डेसिबल ध्वनि प्रदूषण दिन में और रात में 58.5 डेसिबल तक रहता है. जबकि बोर्ड के मानकों के मुताबिक ध्वनि का लेवल दिन में 50 तो रात में 40 डेसिबल तक होना चाहिए. मतलब यह कि दिन में 16.8 डेसिबल तो रात में 18.5 डेसिबल तक ध्वनि का लेवल ज्यादा रहता है.

जबकि हैरान करने वाली बात यह है कि इंडस्ट्रियल इलाके में यह सामान्य बना हुआ है. हैरान करने वाली बात है कि जिन स्कूल-कॉलेजों और अस्पताल के आसपास ध्वनि का स्तर तय मानक से अधिक नहीं होना चाहिए वहीं सबसे ज्यादा बना हुआ है.

फोकट में ताजमहल देखने वालों से परेशान हैं अफसर, सोशल मीडिया पर मांगी मदद

10 हजार का चालान, फिर भी टूट रहा कानून

गौतम बुद्ध नगर के नोएडा और ग्रेटर नोएडा में हर कहीं हॉर्न बजाने की मनाही है. नोएडा-ग्रेटर नोएडा ट्रैफिक पुलिस ने इस संबंध में एक अभियान शुरू किया था. अभियान के तहत जिले के साइलेंट जोन में ट्रैफिक पुलिस कर्मियों की तैनाती की गई थी. पुलिसकर्मी साइलेंट जोन में हॉर्न बजाने वालों के खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं.

10 हजार रुपये तक का चालान भी काटा जा रहा है. हालांकि साइलेंट जोन में एक तय मानक पर ही हॉर्न बजाने की अनुमति दी गई है. शुरूआती हफ्ते में जागरुकता अभियान भी चलाया गया था. इसके साथ ही शहरभर में प्रेशर हॉर्न बजाने वाले वाहनों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जा रही है.

आपके शहर से (नोएडा)

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश

Tags: Air pollution, Greater noida news, Noida Police, School



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here