नोएडा ट्विन टॉवर्स के ध्वस्तीकरण से पहले Supertech ने जारी किया बयान, जानें क्या कहा

0
38


नई दिल्लीः नोएडा सेक्टर 93 ए स्थित एमराॅल्ड कोर्ट सोसाइटी में ट्विन टाॅवरों के ध्वस्तीकरण से पहले इसकी निर्माणकर्ता कंपनी सुपरटेक ने एक बयान जारी किया है. अपने बयान में सुपर टेक ने कहा है कि साल 2009 में नोएडा अथाॅरिटी को पूरा भुगतान करने और सभी तरह की मंजूरी हासिल करने के बाद ही इन टाॅवरों का निर्माण किया गया था. सुपरटेक के मुताबिक उसने भवन निर्माण से संबंधित राज्य सरकार के तत्कालीन सभी नियमों का पालन किया था. हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने तकनीकी आधार पर इन टाॅवरों के निर्माण को संतोषजनक नहीं पाया और इन्हें गिराने का आदेश पारित किया.

सुपरटेक की ओर से कहा गया है कि कंपनी सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का सम्मान करती है और इसे लागू करने के लिए प्रतिबद्ध है. इसलिए ट्विन टाॅवर्स को गिराने के लिए उसने एक विश्व प्रसिद्ध डिमोलिशन कंपनी एडिफिस इंजीनियरिंग को यह काम सौंपा है, जिनके पास ऊंची इमारतों को सुरक्षित रूप से गिराने में विशेषज्ञता है. साथ ही कंपनी ने यह भी कहा है कि  उच्चतम न्यायालय के आदेश से सुपरटेक की अन्य चल रही परियोजनाएं प्रभावित नहीं होंगी और उनका काम जारी रहेगा. कंपनी तय समयसीमा के अंदर निर्माण पूरा करने और अपने बाॅयर्स को फ्लैटों का आवंटन करने के लिए प्रतिबद्ध है.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

FIRST PUBLISHED : August 28, 2022, 13:26 IST



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here