नोएडा: CAG रिपोर्ट में खुलासा, 26 शोरूम से अथॉरिटी नहीं वसूल पाया फीस, 2 अरब 35 करोड़ का नुकसान

0
46


नोएडा. मिश्रित भूमि उपयोग (Mixed Land Use) की अनुमति देने के बाद भी नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority) ने 26 शोरूम से 2 अरब 35 करोड़ रुपए नहीं वसूले. यह पैसा भूमि उपयोग की फीस के रूप में लिया जाना चाहिए था. इससे नोएडा अथॉरिटी को 2 अरब 35 करोड़ 63 लाख 69 हजार 87 रुपये का आर्थिक नुकसान हुआ है. इन शोरूम में निशान, हुंडई, हीरो, टोयोटा जैसी कंपनियों के बड़े शोरूम भी शामिल हैं. यह प्राधिकरण अधिकारियों और कंपनी मालिकों की मिलीभगत का नतीजा है. यह खुलासा कैग की जांच रिपोर्ट (CAG Report) में हुआ है.

शहर के सेक्टर-1, 2, 3, 5, 6, 7, 8, 9, 10 आदि औद्योगिक सेक्टर हैं. इन सेक्टरों में औद्योगिक संपत्ति से संबंधित ही कामकाज किया जा सकता है, लेकिन इन सेक्टरों में काफी संख्या में औद्योगिक कंपनियों का प्रयोग व्यावसायिक रूप में हो रहा है. इससे प्राधिकरण से सस्ती दरों पर औद्योगिक भूखंड लेने वाले कंपनी मालिक व्यावसायिक प्रयोग कर जमकर मुनाफा कमा रहे हैं. इसको देखते हुए कुछ साल पहले नोएडा प्राधिकरण मिश्रित भूमि उपयोग की योजना लेकर आया था. इसके तहत औद्येागिक भूखंड का व्यावसायिक उपयोग कर रहे कंपनी मालिक एक तय फीस देकर मिश्रित भूमि उपयोग के तहत उसमें बदलाव कर सकते हैं. इस योजना के तहत काफी कंपनी मालिकों ने इसका लाभ के लिए आवेदन किया. आवेदन करने के बाद काफी संख्या में कंपनियों में वाहन व अन्य तरह के शोरूम खुल गए.

महत्वपूर्ण यह है कि नोएडा प्राधिकरण ने संबंधित कंपनियों को बदलाव की अनुमति तो दे दी, लेकिन उनसे उस प्रक्रिया की फीस लेना मुनासिब नहीं समझा. हाल ही में कैग रिपोर्ट विधानसभा में पेश हुई थी. कैग रिपोर्ट के मुताबिक नोएडा के अलग-अलग औद्योगिक सेक्टर में मिश्रित भूमि उपयोग ल (MIXED LAND USE) के तहत 26 कंपनियों में शोरूम के लिए मंजूरी दी गई, लेकिन भूमि उपयोग शुल्क की नहीं वसूलने से आवंटियों को 2 अरब 35 करोड़ 69 हजार 87 रुपये का अनुचित लाभ दिया गया.

इन कंपनियों से नहीं वसूला गया फीस
रिपोर्ट के मुताबिक जिन कंपनी वालों से फीस वसूल नहीं की गई उनमें सेक्टर-8 के डी ब्लॉक स्थित मैसर्स भार्गवा रेफरीजरेशन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, सेक्टर-5 के बी ब्लॉक स्थित मैसर्स सुरिन्दर कुमार वर्मा, सेक्टर-5 के ए ब्लॉक स्थित मैसर्स सीमा इन्जीनियरिंग एण्ड कर्मिशयल कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड, सेक्टर-5 के बी ब्लॉक स्थित मैसर्स डी के प्रताप सिंह एक्सपोर्टस, सेक्टर-3 के सी ब्लॉक स्थित मैसर्स निशान, मैसर्स हुंडई, सेक्टर-10 के ए ब्लॉक स्थित मैसर्स हीरो, सेक्टर-10 के ब्लॉक स्थित मैसर्स सायविक ओवरसीज प्राइवेट लिमिटेड, सेक्टर-8 के डी ब्लॉक स्थित मैसर्स ऑटोमोबाईल स्टर्लिंग, सेक्टर-5 के ए ब्लॉक स्थित मैसर्स एलॉटी, सेक्टर-10 के सी ब्लॉक में नेक्शा शोरूम वाला मैसर्स हाई फाई टायर्स प्राइवेट लिमिटेड, सेक्टर-6 के एफ ब्लॉक में मैसर्स इण्डिया इन्टरनेशनल हाउस लिमिटेड, सेक्टर-2 के ए ब्लॉक स्थित मैसर्स वाजन शूज लिमिटेड, सेक्टर-10 के सी ब्लॉक स्थित मैसर्स महिन्द्रा, सेक्टर-10 के डी ब्लॉक स्थित विनायक इन्टरप्राइजेज, सेक्टर-11 के जी ब्लॉक स्थित मैसर्स शेवरले, सेक्टर-1 के सी ब्लॉक स्थित मैसर्स रोशन मोटर्स लिमिटेड, सेक्टर-1 के सी ब्लॉक स्थित मैसर्स रोहन मोटर्स लिमिटेड, सेक्टर-2 के ए ब्लॉक स्थित मैसर्स शुभकामना बिल्डटेक, सेक्टर-8 के सी ब्लॉक में नवाब मोटर्स, सेक्टर-5 के बी ब्लॉक में मारवाह एण्ड एसोसिएट्स, सेक्टर-5 के ए-ब्लॉक में दिनेश इनमेल्ड वायर इण्डस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड और इसी सेक्टर के बी ब्लॉक में स्थित मैसर्स मरवान इलेक्ट्रॉनिक्स इक्विपमेन्ट प्राइवेट लिमिटेड, सेक्टर-63 के एच ब्लॉक स्थित मैसर्स वर्व ऑटोमोबाइल्स प्राइवेट लिमिटेड, मैसर्स ड्यूश मोटर्स प्राइवेट लिमिटेड और मैसर्स जेपीसी इन्फ्रा प्राइवेट लिमिटेड शामिल हैं.

आपके शहर से (नोएडा)

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश

Tags: CAG Report, Noida Authority, Noida news, UP latest news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here