पड़ताल: जानिए क्या है पीलीभीत में सड़क पर महिला के प्रसव का सच? नर्स कार्रवाई से नाराज

0
77


पीलीभीत. हाल में ही सोशल मीडिया पर एक गर्भवती महिला का पीलीभीत के जिला अस्पताल गेट पर प्रसव का वीडियो वायरल हुआ था. इस वीडियो को यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर करते हुए सरकार को घेरा था. इसके बाद से ही पीलीभीत का जिला महिला अस्पताल प्रदेश भर में चर्चा का केंद्र बन गया. अखिलेश यादव के ट्वीट करने के बाद यूपी के डिप्टी सीएम और स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक ने इस पूरे मामले का संज्ञान लिया. उन्‍होंने ट्वीट कर जानकारी दी कि पूरे मामले की जांच सीएमओ को जल्द से जल्द कर कठोरतम करने के निर्देश दिए हैं.

दरअसल NEWS 18 LOCAL ने जब पूरे मामले की पड़ताल की तो सामने आया कि अस्पताल के किसी कर्मचारी को सुविधा शुल्क न देने के चलते पूरी घटना हुई है. पीड़िता की मां भागवती ने बताया कि लेबर रूम में तैनात किसी कर्मचारी ने उसकी बेटी को नहलाने के नाम पर 200 रुपये सुविधा शुल्क की मांग की थी. जब उसने ऐसा करने से असमर्थता जाहिर की तो कर्मचारी ने पीड़िता का हाथ पकड़कर उसे बाहर निकाल दिया. इसके तुरंत बाद ही उसने नवजात को जन्म दे दिया.

स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ नर्सों का विरोध
यूपी के डिप्टी सीएम व स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक के ट्वीट करने के बाद जांच अधिकारियों ने घटना के दिन ड्यूटी पर तैनात संविदा कर्मी नर्स पर कार्रवाई की है. इसके विरोध में संविदा कर्मी नर्सों ने विरोध प्रदर्शन भी किया है. उनका आरोप है कि बिना किसी स्पष्टीकरण लिए यह कार्रवाई की गई है.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

FIRST PUBLISHED : August 22, 2022, 13:46 IST



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here