‘पद्म श्री’ के लिए नाॅमिनेट हुए कानपुर के अमित निरंजन, 6 विषयों में क्वालीफाई कर चुके हैं NET

0
22


कानपुरः कानपुर के रहने वाले अमित कुमार निरंजन को शिक्षा के क्षेत्र में उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए उन्हें ’पद्म श्री पुरस्कार 2023’ में नामांकित किया गया है. अमित कुमार ने पूरे देश से करीब 2 लाख से अधिक छात्रों को भविष्य के चुनाव में परामर्श दिया है. इसके अलावा वह अब तक 25,000 से अधिक शिक्षकों को प्रशिक्षण दे चुके हैं. अमित बताते हैं कि वह बीते कई वर्षों से छात्रों के लिए पब्लिकेशन का कार्य कर रहे हैं. देशभर के कई छात्रों को फ्री में शिक्षा दे चुके हैं. इसके अलावा वह पूरे भारत में शिक्षा से जुड़े विषयों पर सेमिनार भी करते रहते हैं.

छात्र बिना किसी कोचिंग के कैसे सफलता प्राप्त कर सकता है, अमित कुमार निरंजन उस स्ट्रैटजी पर भी काम करते हैं. छात्रों में फ्री स्टडी मटेरियल उपलब्ध करवाते हैं. शिक्षा केंद्र छात्रों के लिए कैसे एक खुशहाल जगह बनें जिससे की ज्यादा से ज्यादा छात्र स्कूलों में उपस्थित हों, शिक्षकों को कैसे आधुनिक तकनीकों का उपयोग करके पढ़ाना चाहिए इसकी ट्रेनिंग देने के अलावा, वह करिअस काउंसलिंग का कार्य निरंतर करते आ रहे हैं. अमित कुमार निरंजन ने विगत 18 वर्षों से शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य किया है. इसको देखते हुए उन्हें देश के चैथे सर्वोच्च नागरकि पुरस्कार पद्श्री के लिए नामांकित किया गया है.

6 विषयों में कर चुकें हैं NET क्वालीफाई, IIT कानपुर से PhD
अमित ने 8 सब्जेक्ट में मास्टर्स की डिग्री हासिल की है. इसके साथ ही उन्होंने 6 अलग-अलग सब्जेक्ट्स में यूजीसी की राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (UGC-NET) भी पास की हुई है. उन्होंने साल 2010 में कॉमर्स (Commerce) और उसी साल इकोनॉमिक्स (Economics), साल 2012 में मैनेजमेंट (Management), इसके बाद साल 2015 में एजुकेशन (Education), साल 2019 में पॉलिटिकल साइंस (Political Science) के साथ 2020 में सोशियोलॉजी (Sociology) में नेट एग्जाम क्लीयर किया है. इसके अलावा 2015 में IIT कानपुर से इकोनॉमिक्स में उन्होंने PhD कम्प्लीट की थी. फिलहाल वह इस वक्त शिक्षा की गुणवत्ता के विकास से संबंधित सब्जेक्ट में छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय, कानपुर (CSJMU, Kanpur) से PhD कर रहे हैं.

इन रिकॉर्ड्स में दर्ज करा चुके हैं अपना नाम
इंडियन एजुकेशन सिस्टम में एक्सीलेंट वर्क करने के लिए ही इस साल उनका नाम वर्ल्डवाइड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स (Worldwide Book of Records) में भी शामिल किया जा चुका है. इशके अलावा, 6 सब्जेक्ट में UGC-NET का एग्जाम क्वालीफाई करने के लिए उनका नाम इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स (India Book of Records) में पहले से ही शामिल है.

Tags: Kanpur News Today, Uttar pradesh news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here