पहलवान बजरंग पूनिया ने संगीता फोगाट से की शादी, 8 फेरे लेने के बाद कहा- थोड़ा बेचैन हूं!

0
12


भारतीय पहलवान बजरंग पूनिया (Bajrang Punia weds Sangeeta Phogat) ने गुरुवार को संगीता फोगाट से शादी की, दोनों ने हरियाणा के बलाली गांव में पारंपरिक अंदाज में विवाह किया.

भारतीय पहलवान बजरंग पूनिया (Bajrang Punia weds Sangeeta Phogat) ने गुरुवार को संगीता फोगाट से शादी की, दोनों ने हरियाणा के बलाली गांव में पारंपरिक अंदाज में विवाह किया.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 26, 2020, 7:10 PM IST

नई दिल्ली. दंगल गर्ल गीता और बबीता फोगाट की छोटी बहन पहलवान संगीता फोगाट और पद्मश्री बजरंग पूनिया  (Bajrang Punia weds Sangeeta Phogat) परिणय सूत्र में बंध गए. बुधवार देर रात चरखी दादरी जिले के गांव बलाली में शादी सादगीपूर्ण माहौल में संपन्न हुई. इसमें कोरोना वायरस संक्रमण रोकथाम संबंधी दिशा-निर्देशों के कारण मेहमानों की संख्या सीमित रखी गई. शादी के बाद कुश्ती क्षेत्र के दोनों दिग्गज जीवन की अपनी नई पारी को लेकर काफी खुश दिखे. बजरंग और संगीता ने लिए 8 फेरे गांव खुड्डन के मूल निवासी एवं वर्तमान में सोनीपत में रहने वाले पहलवान बजरंग पूनिया केवल 31 बारातियों को साथ लेकर बुधवार रात संगीता की डोली अपने घर ले जाने के लिए पहुंचे. गांव बलाली में दोनों तरफ से कुल 50 लेकर 60 तक ही मेहमान बुलाए गए थे. तमाम पारिवारिक, सामाजिक, लोक परंपराओं से जुड़ी रस्मों जैसे लग्न, गोरवा, घुड़चढ़ी, वरमाला इत्यादि के बाद संगीता और बजरंग ने सात की बजाय आठ फेरे लिए. बड़ी बहन गीता व बबीता फोगाट की तरह संगीता ने भी आठवां फेरा ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के संकल्प के रूप में लिया. संगीता के पिता पहलवान महावीर फोगाट ने कहा कि उन्हें अपनी बेटी को घर से विदा करते समय काफी पीड़ा हो रही है, लेकिन संसार के नियमों को निभाना जरूरी है. इसके साथ-साथ उन्हें खुशी है कि उनकी बेटी संगीता पहलवान बजरंग पूनिया जैसे अच्छे युवक और उसके संस्कारी परिवार में जा रही है.

पहलवान बजरंग पूनिया ने संगीता फोगाट से की शादी, 8 फेरे लेने के बाद कहा- थोड़ा बेचैन हूं!

शादी के बाद बजरंग ने पोस्ट किया खास मैसेज (photo-Bajrang instagram screenshot)

शादी के बाद थोड़े बेचैन दिखे बजरंग! शादी के बाद पहलवान बजरंग ने सोशल मीडिया पर अपनी भावनाओं को साझा किया. उन्होंने लिखा, ‘विवाह एक अद्भुत रस्म है. आज मैंने अपना जीवनसाथी चुना है और उससे उसके घर से अपने घर लेकर आया हूं. फिर भी ऐसा लग रहा है की मैंने एक और परिवार पा लिया है. ज़िंदगी के इस नए अध्याय की शुरुआत करने जा रहा हूं. खुश भी हूं और थोड़ा सा बेचैन भी. अब इस परीक्षा का सामना करने का समय आ गया है दोस्तों. आपके स्नेह और आशीर्वाद के लिए धन्यवाद.’ (भाषा के इनपुट के साथ)



<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here