पिंजरे से बाहर आई खूंखार: मालकिन की जान लेने वाली ‘खूनी’ पिटबुल ब्राउनी आजाद, मालिक का लेने से इनकार!

0
84


हाइलाइट्स

अपनी पिटबुल ब्राउनी को लेकर भावुक है उसका मालिक अमित, लेकिन मां को खाेने के बाद सदमे में है.
मालकिन को नोच डालने वाली खूंखार पिटबुल ब्राउनी आज से आजाद हो गई, वह 14 पिंजरे में बंद रही.

लखनऊ. लखनऊ के कैसरबाग इलाके के बंगाली टोला में 14 दिन पहले अपनी 82 वर्षीय बुजुर्ग मालकिन की जान लेने वाले खूनी पिटबुल डॉग को आज नगर निगम नें पुराने मालिक अमित के करीबी रिश्तेदार को तमाम कागजी औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद गुरुवार को हैंडओवर कर दिया गया. आपको बता दें कि अपने मालिक की मां की हत्या के बाद पिटबुल डॉग को 14 दिनों की निगरानी में नगर निगम के श्वान केंद्र में रखा गया था. और आज उसकी मियाद खत्म हो रही थी.

नगर निगम के डॉ अनुभव के मुताबिक, 14 दिनों की निगरानी के दौरान पिटबुल डॉग का व्यवहार सामान्य रहा. उसने सही समय पर खाना खाया और बाकि एक्टीविटी की.

ये भी पढ़ें… Lucknow Pitbull Attack: मालकिन की जान लेने वाला ‘खूनी’ पिटबूल आज होगा आजाद, जानें अब किसके पास रहेगा

हालांकि नगर निगम नें ब्राउनी की नसबंदी नही की है. उसके लिये मालिक से इजाजत की जरूरत पड़ती है.. लेकिन सब ठीक हो जाने के बाद पिटबुल को नगर निगम स्वान केंद्र, जरहरा से उसे पुराने मालिक के एक रिश्तेदार को हैंडओवर किया जा रहा है. नए मालिक का नाम गोपनीय रखा गया है. वहीं पुराने मालिक अमित की आवाज सुनते ही ब्राउनी उशके गले लग गई. अमित उसे पुचकारते तो वो उनके पैरों में लिपट जाती.

ये भी पढ़ें… मूक बधिर बच्ची पर टूट पड़ा खूंखार आवारा कुत्तों का झुंड, कुत्ते नोचते रहे और वह चिल्ला भी न सकी

अपनी पिटबुल ब्राउनी को लेकर भी भावुक है मालिक अमित, लेकिन मां को खाेने के बाद सदमे में है.

मेरे लिए बेहद डरावना हादसा था, अब भी सदमे में हूं
हालांकि अमित ने न्यूज 18 से बातचीत में कहा, “वो एक हादसा था. और ये मेरे लिये भी बेहद डरावना था. मैने अपनी मां को खोया है और में अभी तक इस सदमें से नही निकल पाया हूं. लेकिन मैं ब्राउनी को किसी और के हाथों में नही देख सकता था. इसी लिये जैसा मुझसे कहा गया मैने वैसा ही किया. 14 दिनों के बाद अब वो फिट है. मेरे करीबी हैं जिनको पिटबुल हैंडओवर की जा रही है.”

बता दें वैसे तो इस पिटबुल डॉग को अपनाने के लिए कई लोगों ने नगर निगम से संपर्क साधा था, मगर निगम ने पहला मौका पुराने मालिक अमित को दिया था.. जिसके बाद उनके करीबी को लिखा पढ़ी करके सौंप दिया गया हैं.

Tags: Attack of stray dogs, Dogs, Lucknow News Update



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here