पीड़ित ही निकला आरोपी, मालिक के 18 लाख हड़पने के लिए फर्जी लूट को दिया अंजाम

0
12


मेरठ. यूपी के मेरठ के बहसूमा थानाक्षेत्र में व्यापारी के कलेक्शन एजेंट से 18 लाख की लूट का मामला फर्जी निकला. मेरठ के एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने इस सनसनीखेज़ कांड का खुलासा करते हुए बताया कि कलेक्शन एजेंट से 18 लाख की लूट फर्जी थी. वादी खुद इस कांड का मास्टरमाइंड निकला. पुलिस ने मुनीम के पास से 18 लाख की रकम बरामद कर ली. साथ ही इस फर्जी कांड को अंजाम देने वाले दो अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया, जबकि एक अभी भी फरार है.

पूछताछ में वादी मुनीम राजीव शर्मा और गाड़ी के चालक पंकज ने बताया कि तीसरे अभियुक्त सचिन के साथ मिलकर इस घटना को उसने अंजाम दिया. पुलिस ने बताया कि काफी लम्बे समय मुनीम कम्पनी में करता था और समय-समय पर उसे उधार के पैसे लाने के लिए आसपास के जनपदों में जाना पड़ता था. रकम काफी अधिक होती थी, इसलिए उसके मन में लालच आ गया और पैसे हड़पने की साजिश रच डाली.

मुनीम ने घटना को अंजाम देने के लिए चालक पंकज कुमार को साथ लिया. वह उसी के गांव का रहने वाला है. वह पिछले चार-पांच बार से पैसे इकट्ठे करने के लिए उसके साथ जा रहा था. पंकज कुमार के द्वारा एक अन्य चालक सचिन को भी इस साजिश में शामिल किया गया. घटना वाले दिन जब दोनों बहसूमा से लगभग 2 किलोमीटर आगे जा रहे थे तो योजना के अनुसार तीसरे अभियुक्त के द्वारा इनकी गाड़ी को ओवरटेक किया गया और पैसों से भरा बैग लूट लिया गया. घटना को लूट का रूप देने के लिए मुनीम और पंकज के द्वारा गाड़ी का शीशा फोड़ दिया गया और मिर्च का पाउडर भी अन्दर फैलाया गया. फिर दोनों ने मालिक को फोन कर घटना के बारे में बताया. हालांकि पुलिस की जांच में साजिश का पर्दाफाश हो गया.

Tags: Meerut Crime News, Meerut news, UP news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here